सम्मान पाकर हर्षित हैं रामविचार नेताम

रामानुजगंज (पृथ्वीलाल केशरी)देश के सर्वोच्च सदन ने राज्यसभा में सांसद के रूप में रामविचार नेताम के बीते 6 वर्ष के कालखण्ड पर प्रकाशित स्मारिका विमोचन समारोह में नारायण चन्देल नेता प्रतिपक्ष, छत्तीसगढ़ विधानसभा नंदकुमार सायपूर्व अध्यक्ष, राष्ट्रीय जन जाति आयोग देवेश्वर सिंह पूर्व विधायक डॉ.अजय तिर्की महापौर,नगर निगम,अम्बिकापुर अजय इंगोले विख्यात समाजसेवी एच.एस.जायसवाल चार्टट एकाउंटेंट श्याम कश्यप बैचेन प्रसिद्ध साहित्यकार संजय दुबे रायपुर कु.हिमांगी त्रिपाठी प्रसिद्ध गायिका सरगुजा, बलरामपुर-रामानुजगंज, सूरजपुर, कोरिया, जशपुर जिले के सभी सम्मानीय भाजपा जिलाध्यक्ष,पूर्व गृह मंत्री रामसेवक पैकरा,भैयालाल राजवाड़े,पूर्व सांसद कमलभान सिंह अनिलसिंह मेजर जिलाध्यक्ष भाजपा सरगुजा पी.आर.कश्यप, रेणुका सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष कोरिया संभाग के सभी भाजपा प्रदेश पदाधिकारी,अम्बिकापुर के प्रमुख चिकित्सक,अधिवक्तागण,व्यापारी,विख्यात समाजसेवी सभी भाजपा-कांग्रेस के जनप्रतिनिधि, नेताद्वय ,सहित गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में कार्यक्रम संपन्न हुआ।

रामविचार नेताम अपने आप में एक पुस्तक है, जिसे हम थोड़े से समय में ही व्यक्त नहीं कर सकते है जीवन के कई पहलुओं से इनका निरंतर नाता रहा है एवं जहाँ भी इन्हें जिस रूप में जिम्मेदारी प्राप्त हुआ है उसे उतने ही बखूबी से निभाया है। यह उदगार रामविचार नेताम के बीते संसदीय कार्यकाल पर परिदर्शित स्मारिका विमोचन समारोह में अध्यक्षता के दौरान जनजाति राष्ट्रीय आयोग के पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार साय ने व्यक्त की।

श्री साय ने आगे कहा कि नेताम के कार्यप्रणाली से सदैव नई पीढ़ी को भी प्रेरणा प्राप्त होती है। मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा कि हमने देखा है कि राज्यसभा के संसदीय कार्यकाल में इनके शत प्रतिशत सहभागिता रही है, जहाँ इन्होंने जनता कि साक्षात् आवाज बनकर केन्द्र सरकार को समय समय पर आगाह ही नही किया है वरन लोक काल्याणकारी के दिशा में अपने लम्बे सार्वजनिक जीवन के अनुभव के आधार पर समस्याओं को दूर करने के लिए उचित उपाय भी सुझाये है। जिन्हें भारत सरकार ने भी सतत् गंभीरता से लिया है।

विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद अम्बिकापुर नगर निगम के महापौर डॉ.अजय तिर्की ने कहा की वास्तव में यह आयोजन दलगत भावना से उपर उठकर किया गया है जो शत प्रतिशत सार्थक भी है, चूंकि रामविचार नेताम वास्तव में सरगुजा अंचल के एक स्तम्भ है, जो दलगत राजनीति से उपर उठकर आम जनता के दिक्कतों को दूर करते है, इसका मैने प्रत्यक्ष अनुभव भी किया है जब मैं इनके ही गांव सनावल से शासकीय चिकित्सीय सेवा प्रारंभ की थी। तब से मैं इनको जानता हूं सेवा भाव को लेकर आमजन के प्रति बहुत ही हमेशा से सराहनीय रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.