बिफरे मुख्यमंत्री,बोले-जब मुख्यमंत्री-मंत्री जाते हैं, तभी काम क्यों होता है,एक राशन कार्ड के लिए मुझे निर्देश देना पड़ रहा

बलरामपुर। मुख्यमंत्री ने आज पुलिस और प्रशासनिक अफसरों का दरबार लगाकर जमीनी स्तर पर होने वाले कार्यो को लेकर तीखी नाराजगी जताई। बैठक में एक बार फिर मुख्यमंत्री ने महिला के गरीबी रेखा कार्ड के मुददे पर अफसरों की उनकी जवाबदारी का अहसास कराया। मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया कि इस लापरवाही के लिए क्या कलेक्टर जवाबदार नही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नाराजगी जताते हुए कहा कि एक मुख्यमंत्री को राशन कार्ड के लिए निर्देश देना पड़ रहा है, इससे खराब बात और क्या हो सकती हैं। साथ ही बैठक में मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान अधिकारियों को साफ किया कि जब मुख्यमंत्री या मंत्री का दौरा होता है, तभी काम होता है, ऐसा मैसेज क्यों जाता है।

काम हमेशा होना चाहिए, जनता के बीच ये मैसेज जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने दो टूक शब्दों में अफसरों को ये कहते हुए साफ कर दिया कि अंतिम व्यक्ति तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचना चाहिए।मुख्यमंत्री ने अधिकारियों की कार्यशैली पर नाराजगी भी जतायी, उन्होंने कहा काम उसी वक़्त क्यों होता है, जब मंत्री आते है, मुख्यमंत्री आते है। आम जनता के लिए जाना चाहिए कि जहां शिकायत मिली, वहां तुरंत जाना चाहिये। चाहे बिजली का खम्भा लगाना हो, किसानों को कनेक्शन देना हो, मैं कल पीडीएस शॉप में गया तो वहां महिला को तो मैं ही बुलाया,वो तो दूर खड़ी थी, उसने बताया कि उसे राशन नहीं मिल रहा, क्या उसके लिए सिर्फ CMO दोषी है। क्या उसके लिए कलेक्टर जिम्मेदार नहीं है ? क्या विभाग के अधिकारी जिम्मेदार नहीं है…?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *