दानदाताओं का किया गया सम्मान..समिति प्रमुख ने कहा..मिलजुलकर सर्वहित में करना होगा काम

तखतपुर–( टेकचंद कारड़ा)– महामाया मंदिर में सीसीटीवी कैमरा दानदाताओं को सम्मानित किया गया है। मंदिर समिति ने सम्मान कार्यक्रम के दौरान दान दाताओं की जमकर तारीफ की।
 
        जानकारी हो कि तखतपुर क्षेत्र में लगातार मिल रही चोरी की शिकायत के बाद स्थानीय लोगों ने मिलकर महामाया मंदिर के लिए सीसीटीवी, कैमरा समेत टीवी दान किया। इसी क्रम में दानदाताओं का समिति ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित गया।
 
                        दानदाताओं के प्रयास से महामाया मंद्रि में सीसीटीवी लगाया गया। इस अवसर पर विधिवत पूजा अर्चना कर कैमरे को चालू किया गया। कार्यक्रम में मौजूद लोगों को मंदिर समिति के अध्यक्ष जितेंद्र पाण्डेय ने संबोधित किया। पाण्डेय ने इस दौरान मंदिर विकास के लिए कराए जा रहे कार्यो की जानकारी को सबके साथ साझा किया।
 
           अधिवक्ता अशोक ठाकुर ने कहा कि हम सभी को अपने धर्म और कर्तव्यों के निर्वहन के लिए संगठित होकर काम करना है। एक दूसरे के जरूरत के समय सहयोग देना है। ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष घनश्याम शिवहरे ने कहा कि हमारी सनातन संस्कृति को आने वाली पीढी को अवगत कराना है। यदि हम मिलजुलकर काम करेंगे तो ना केवल भाईचारा बल्कि सभी को जिम्मेदारी का अहसास होगा। कार्यक्रम के माध्यम से आने वाली पीढी को सनातन परंपरा और संस्कृति को बताना होगा।
 
                कार्यक्रम का संचालन जितेंद्र शुक्ला और आभार प्रदर्शन दिलीप तोलानी ने किया। इस अवसर पर धनंजय सिंह क्षत्री, अनिल सिंह ठाकुर, बाल सिंह ठाकुर, टेकचंद कारडा, विक्रम सिंह ठाकुर, किशन सचदेव, विवेक पाण्डेय, अभिषेक पाण्डेय, देव सिंह ठाकुर, अरूण तोमर, बंटी बैस, रजनीश जायसवाल, बिहारी देवांगन,  तिलक देवांगन, कोमल सिंह ठाकुर, ज्ञानू देवांगन, प्रदीप पाण्डेय, गजेंद्र गुप्ता, अश्वनी देवांगन, आकाश ठाकुर, बृजपाल सिंह हूरा, सोनू क्षत्री, अजय देवांगन, जय दुबे, बोनू ठाकुर, प्रमोद ठाकुर, सुजल मिरी, पप्पू जायसवाल, प्रकाश दुबे, राजू ठाकुर, चंद्रप्रकाश देवांगन, सुनील जांगडे, सत्येंद्र दुबे, शंकर अग्रवाल, निरंजन सिंह क्षत्री, हरविंदर हूरा, कैलाश देवांगन, नैन लाल साहू, कान्हा पाठक, परमेश्वर ठाकुर, निलेश धनकर, विवेक बाजपेयी, आयुष सिंह ठाकुर, राहुल तिवारी, तन्नू कुकरेजा, दुर्गा ठाकुर, अजय सोनकर समेत गणमान्य लोग विशेष रूप से थे।
 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *