परीक्षा से पहले बेरोजगार परेशान,नकल व धांधली रोकने धारा 144 लागू करने की रखी मांग,अटेंडेंस को लेकर दिये यह सुझाव

जयपुर।राजस्थान की सबसे बड़ी परीक्षा REET का आयोजन 26 सितम्बर को होने जा रहा है। इस परीक्षा में 31 हजार पदों के लिए 16 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों के शामिल होने की उम्मीद है। परीक्षा की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े होने लग गया है। दरअसल, पिछले दिनों हुई नीट और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में सामने आए नकल और भ्रष्टाचार के मामलों के बाद अब राजस्थान में REET परीक्षा को लेकर बेरोजगारों ने सरकार से पुख्ता सुरक्षा की मांग की है।REET भर्ती परीक्षा की पढ़ाई कर रहे बेरोजगारों ने बताया की नीट परीक्षा में बड़े स्तर पर नकल गिरोह के पकड़ने जाने, एसआई भर्ती परीक्षा में पेपर सोशल मीडिया पर वायरल होने और परीक्षा केन्द्र के अंदर से वीडियो वायरल होने के बाद रीट परीक्षा में शामिल होने जा रहे लाखों परीक्षार्थियों के मन में एक डर समा गया है। ऐसे में सरकार को पारदर्शी प्रक्रिया के साथ REET भर्ती परीक्षा आयोजित करने के साथ ही धारा 144 भी लागू की जानी चाहिए।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव का कहना है कि हाल ही में आयोजित एसआई भर्ती में करीब 8 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया और इस भर्ती में कई नकल के मामले सामने आए। जबकि REET परीक्षा में जिसमें करीब 16 लाख से ज्यादा बेरोजगार हिस्सा लेने जा रहे हैं। ऐसे में परीक्षा केन्द्रों पर धारा 144 लागू की जाए, इंटरनेट बंद किया जाए, परीक्षा से दो दिन पहले कोचिंग्स को बंद किया जाए। इसके साथ ही संदिग्ध लोगों के फोन भी ट्रेस किए जाएं, परीक्षा में बायोमेट्रिक हाजिरी ली जाए। तब ही परीक्षा में होने वाली धांधली को रोका जा सकता है।

REET परीक्षा की पिछले तीन साल से तैयारी कर रही दुर्गा ने बताया की नौकरी और परिवार से दूर रहकर तयारी की है। लेकिन अब आखरी में जब परीक्षा होने वाली तब नक़ल और फर्जी अभियार्थी के मामले सामने आ रहे है। जिससे काफी परेशान हो गई हूं। ऐसे में सरकार हो इस पूरे मामले को प्राथमिकता से लेते हुए मेरे जैसे लाखो अभियर्थियों के भविष्य की रक्षा करनी चाहिए। वहीं REET की तैयारी कर रहे मनोज ने कहा की RPSC की हर परीक्षा अब धांधली में होने लगी है। ऐसे में केंद्र सरकार को राजस्थान में REET का आयोजन करना चाहिए। ताकि प्रदेश के लाखों बेरोजगारों के साथ बेईमानी न हो सके।

वहीं, प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि सरकार REET भर्ती परीक्षा को पारदर्शी तरीके से कराने की तैयारी में जुटी है। शिक्षा विभाग के साथ ही पुलिस प्रशासन और एसओजी परीक्षा के दौरान पूरी तरह से मुस्तैद रहेगी। ताकि किसी भी तरह की नकल और बेईमानी को रोका जा सके। शिक्षा मंत्री ने कहा कि REET में नकल रोकने के लिए भी टीमों का गठन किया गया है। जो प्रदेशभर में औचक निरीक्षण कर लगातार निगरानी बनाए रखेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *