लॉकडाउन में कृषि केन्द्र नहीं खुलने से किसानों को हो रही परेशानी, कीट प्रकोप से नहीं बचा पा रहे अपनी फ़सल… ट्रैक्टर के लिए भी नहीं मिल रहा डीज़ल

बिलासपुर । लॉकडाउन की वज़ह से सभी तरह के कारोब़ार पूररी तरह से बंद है। इस दौरान शहर के सभी कृषि केन्द्र भी बंद हैं। ज़िससे किसानों को काफ़ी दिक़्कतों का सामना करना पड़ रहा है। किसानों की रबी फ़सल के लिए दवाइयों की जरूरत है। इसी तरह हार्वेस्टर- ट्रैक्टर के लिए डीज़ल भी नहीं मिल पा रहा है। किसान संघ नें इस बारे में कृषि विभाग के अफ़सरों और प्रदेश के कृशि मंत्री रविन्द्र चौबे से भी निवेदन किया है।

भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष धीरेन्द्र दुबे ने बिलासपुर जिले के किसानों को लॉक डाउन के वजह से हो रही समस्याओं के विषय मे शशांक शिंदे उप संचालक कृषि जिला बिलासपुर से फ़ोन के माध्यम से चर्चा कर कॄषि औसधि केंद्रों को खोलने एवम हार्वेस्टर तथा ट्रेक्टर में  डीजल सुविधा उपलब्ध कराने जिला प्रशासन से पत्र लिखकर मांग की है । ज्ञात हो कि बिलासपुर जिले के 4 विकास खंडों में रबी फसल एवम सब्जी उत्पादक किसानों को भारी क्षति का सामना करना पड़ रहा है । जहाँ एक तरफ सब्जी उत्पादक किसान एक तरफ सब्जियों में बीमारियों की वजह से परेशान है । वही अपनी सब्जी को बेचने में विवश नजर आ रहे है । वही दूसरी तरफ रबी फसल उत्पादन करने वाले कृषक भूरामाहो कीट के प्रकोप से अपने फसल बचाने को लेकर परेशान है । कृषि औसधि केंद्रों का न खुलना बहुत बड़ी परेशानी का सबब बना हुआ है । इन्ही विषयों को लेकर धीरेन्द्र दुबे ने प्रशासन का ध्यान आकृष्ट किया है जब पशु चिकित्सा केंद्र खुल सकता है और पशु आहार केंद्र खुल सकता है तो कृषि केंद्र क्यो नही। धीरेन्द्र दुबे ने प्रशासन से जल्द कृषि औ।धि केंद्रों को खोलने की मांग की है एवम कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से आग्रह किया है कि पूरे प्रदेश में सभी कृषि औषधि केंद्र खोला जाए। उप संचालक ने जल्द इसके विषय मे जिला प्रशासन को पत्र लिखकर अनुमति प्रदान करने का आश्वासन दिया है ।                       

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *