पहले रेल..अब सड़क बन्द की साजिश…कांग्रेसियों ने किया रेलवे प्रबंधन के खिलाफ प्रदर्शन…उग्र आंदोलन का किया एलान

Editor

बिलासपुर–कांग्रेस नेताओं ने रेलवे प्रबंधन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रेलवे स्टेशन पहुंचने वाले रास्तों को बन्द किए जाने का विरोध किया है। कांग्रेस नेताओं ने डीआरएम से मिलकर लिखित शिकायत कर बताया कि सड़क बन्द होने से आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। यदि सड़क सुविधा को बहाल नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन करेगे। डीआरएम से मिलने के बाद कांग्रेस नेताओं ने बताया कि रेलवे प्रबंधन ने मनमानी कर तितली चौक, हास्पिटल जाने वाली सड़क समेत चुचुहियापारा और अन्य दो महत्वपूर्ण सड़कों को बेरिकेट कर दिया है। जिसके चलते जनता को भारी परेशानी हो रही है।  

Join Our WhatsApp Group Join Now

 जिला कांग्रेस समेत ब्लाक कांग्रेस नेताओं ने रेल प्रशासन के खिलाफ रेलवे क्षेत्र स्थित अलग अलग स्थानों पर उग्र प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि पिछले तीन सालो में रेलवे प्रशासन सुनियोजित तरीके से जनता को परेशान कर रही है। तीन साल से मण्डल के दर्जनों स्टेशन पर गाड़ियों का ठहराव बन्द किया। सैकड़ों गाड़ियों को हमेशा के लिए रोक दिया है।हमेशा रेल ट्रैक मरम्मत का बहाना बनाकर कोयला गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। महंगाई के दौर में गरीब यात्रियों का जीना मश्किल हो गया है।

ब्लाक अध्यक्ष जावेद मेनन ने बताया कि हमने खुदीराम बोस चौक पर सड़क बन्द किए जाने के खिलाफ रेलवे के खिलाफ विरोध दर्ज किया है। क्षेत्र में शहर का प्रतिष्ठित बुधवारी बाजार है। लोग दूर दराज से बाजार करने आते हैं। क्षेत्र में कई स्कूल हैं…शहर से बच्चे यहां पढने आते हैं। अस्पताल पहुंचने का सीधा रास्ता भी रेल प्रशासन ने बन्द कर दिया है। जिससे मरीजों को घूमकर अस्पताल पाना पड़ता है। संभव है कि इस दौारन मरीज को     जान से हाथ धोना पड़े।

          शहर अध्यक्ष विजय पांडेय ने कहा कि डबल इंजन की सरकार होने के बाद भी रेलवे का इस तरह का निर्णय लेना गलत है। सड़क बन्द करना गाड़ियों को रोकना जनता के हितों के खिलाफ है। भाजपा सरकार के इशारे पर ही मार्ग बाधित किया जा रहा है। उप मुख्यमंत्री अरुण साव भी खामोश हैं। जबकि उन्हें रेल मंत्री से बात कर मार्ग को बन्द करने से रोकना चाहिए।

close