भारत सरकार के पास वैक्सीन की कमी नहीं..विश्व स्वास्थ्य दिवस पर बोले अमर..सामुदायिक प्रयास से जीतेंगे जंग..बुजुर्गों बच्चों का रखें विशेष ख्याल

बिलासपुर— कोरोना पर जीत हासिल करने के लिए हमें एकजुट होना होगा। क्योंकि सामुदायिक भागीदारी से ही कोरोना का मुकाबला किया जा सकता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस पर यह बातें प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अमर अग्रवाल ने कही। अमर ने बताया कि मानव सेवा सबसे बड़ा धर्म और पूंजा है। 
 
         प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य एवं निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने विश्व स्वास्थ्य दिवस लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहने के साथ ही कोरोना से बचाव को लेकर आम जनता से जागरूक रहने को कहा। अमर अग्रवाल ने कहा कि आज विश्व कोरोना से जंग लड़ रहा है। हम भी अछूते नहीं है। इसलिए सभी को सतर्क होने के साथ ही जागरूक भी होना पड़ेगा।
 
                           प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अमर ने कहा वैश्विक संकट की घड़ी में विश्व स्वास्थ्य दिवस हमें सतर्क रहें और जागरूक रहनी की प्रेरणा देता है। आज मानवता पर महामारी संकट बनकर खड़ी है। चुनौती की इस घड़ी में मानव सेवा सबसे बड़ा धर्म है। सबसे बड़ी पूंजी भी। इसलिए हम कंधे से कंधा मिलाकर जरूरतमंदों  की मदद के लिए हर सम्भव सहायता करें।
 
              अमर ने बताया कि सामुदायिक भागीदारी से ही संकट का निवारण सम्भव है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान को सफल बनाने ,दो गज की दूरी का पालन हम सभी को करना है। मास्क लगाने के साथ दूरीयां भी बनाकर रखना है।  दवाई भी जरूरी है और साथ में कड़ाई भी। बेवजह बाहर निकलने से बचना होगा। हर हालत में सबको कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा।
 
               अमर ने बताया इस भीषण काल में हमें बुजुर्गों और बच्चो के स्वास्थ का विशेष ध्यान रखना है। किसी भी प्रकार से अफवाहो को बढ़ावा न देना है।भारत सरकार के पास वैक्सीन की कमी नही है,। देश मे 8 करोड़ नागरिकों को प्रथम डोज लगाया जा चूका है। तार्किक प्रबंधन के आधार पर क्रमशः 18 वर्ष की आयु से अधिक सभी को वैक्सीन लगाई जानी है। लेकिन हर जरूरतमंद को यह पहले मिले ताकि समुदाय से महमारी संकट खत्म हो सके।
 
                           विश्व स्वास्थ्य दिवस  पिछले 72 वर्षों से मनाया जा रहा है। वैश्विक स्वास्थ की बेहतरी के लिए जागरूकता अभियान बेहद महत्वपूर्ण रहा है। दैनिक जीवन में प्रतिदिन व्यायाम योग, प्राणायाम, मेडिटेशन एवं सकारात्मक सोच,संतुलित आहार अच्छे स्वास्थ्य एवम बेहतर जीवन के लिए जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *