आदतन बदमाश ने भगवान गणेश को भी नहीं छोड़ा.. किया सामान पार..ग्रामीण के घर को बनाया निशाना

BHASKAR MISHRA
3 Min Read
बिलासपुर (रियाज़ अशरफी)— गणेश पंडाल से लाउडस्पीकर सेट और घर से प्लम्बर सामानसमेत नगद की चोरी के आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। सीपत पुलिस के अनुसार आरोपी आदतन अपराधी है। शिकायत और सूचना के बाद आरोपी को कुछ घण्टे के अन्दर ही धर दबोचा गया है। साथ ही सामान और नगदी बरामद किया गया है।
 
           सीपत थाना क्षेत्र के ग्राम मड़ई शांति चौक में मोहल्ले वालों ने मिलकर सार्वजनिक भगवान गणेश प्रतिमा की स्थापना किया। पंडाल में समिति वालो ने आकर्षक लाइट और भजन के लिए लाउडस्पीकर का सेट लगाया । रविवार की सुबह समिति वाले पूजा आरती के लिए पंडाल पहुचे। इसी दौरान जानकारी मिली कि पंडाल से हैलोजेन बल्ब लाउडस्पीकर का सेट समेत अन्य सजावटी सामान को किसी ने पार कर दिया है।
 
                 मामले की जानकारी मोहल्ले वालों तक पहुंची। लोगों ने बताया कि रात में गांव के ही संतोष कुमार सूर्यवंशी के घर से किसी ने नल का सामान और 5 हजार रूपयों की चोरी की है। स्थानीय लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस डायल 112 को दी। सूचना मिलते ही डायल 112 में तैनात आरक्षक धर्मेंद्र कश्यप ने मोहल्लेवासियों से पूछताछ किया।
 
              पतासाजी के दौरान जानकारी मिली कि पूरे मामले में सुरेंद्र सूर्यवंशी की भूमिका हो सकती है। आरक्षक धर्मेंद्र ने तत्काल सुरेंद्र के घर पर दंबिश देकर चोरी का सामान बरामद किया। लेकिन सुरेंद्र घर पर नहीं मिला। पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी गांव में ही अपने दोस्त के घर छिपा है। आरक्षक  ने आरोपी को पकड़कर उससे गणेश पंडाल से चोरी किये गए एम्पलीफायर,माइक,हैलोजेन बल्ब,वाद्ययंत्र मांदर को बरामद किया। साथ ही संतोष सूर्यवँशी के घर से चोरी हुए प्लम्बर का सामान के अलावा नगद 5 हजार रूपया भी जब्त किया।
 
                सीपत पुलिस ने आरोपी सुरेंद्र सूर्यवँशी को आईपीसी की धारा 380 के तहत दर्ज कर गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार सुरेन्द्र सूर्यवंशी आदतन चोर है। इसके पहले भी तीन बार चोरी करते पकड़ा गया है। लेकिन गांव में ही समझौता कर मामले को रफादफा कर दिया जाता था। इस बार भी कुछ ऐसा ही करने का प्रयास किया गया। लेकिन पुलिस डायल 112 के आरक्षक धर्मेंद्र  कश्यप की सक्रियता आरोपी धर दबोचा गया है।
TAGGED: , ,
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close