जोगी की न्याय यात्रा पर लगेगा ब्रेक.. शिकायत की जांच करने पहुंची टीम.. कांग्रेस का आरोप..कोटा विधायक बांट रही..मतदाताओं में प्रलोभन वाली पर्ची

बिलासपुर—–कांग्रेस की शिकायत के बाद चुनाव आयोग की केन्द्रीय पर्यवेक्षक टीम मरवाही पहुंचकर शिकायत की पड़ताल शुरू कर दी है। जानकारी देते चलें कि  कांग्रेस नेताओं ने चुनाव आयोग से लिखित शिकायत कर बताया था कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ अध्यक्ष अमित जोगी और कोटा विधायक डॉ. रेणु जोगी न्याय यात्रा के बहाने उनकी सभाओं मे उपस्थित होकर भाजपा के समर्थन में जनता से वोट देने की अपील कर रही है। इतना ही नहीं मतदाताओं को सामग्री की पर्चियां बांटकर प्रलोभन दिया जा रहा है। इससे मरवाही का सौहार्द्ध बिगडने की आशंका है।
 
              कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष संदीप दुबे ने निर्वाचन आयोग से शिकायत की थी कि अमित जोगी और उनकी मां कोटा विधायक डॉ. रेणु जोगी मरवाही क्षेत्र में बिना अनुमति न्याय-यात्रा निकाल रही हैं।  स्वर्गीय अजीत जोगी की किताब बांटने के बहाने मतदाताओं से सम्पर्क कर कांग्रेस के खिलाफ भाजपा में वोट डालने को कह रही है।
 
                अपनी शिकायत में कांग्रेस नेता संदीप ने चुनाव आयोग को बताया कि न्याय यात्रा के बहाने जोगी परिवार चुनाव को प्रभावित करने का काम कर रहा है। जबकि जनता कांग्रेस से कोई भी प्रत्याशी मैदान में नहीं है। न्याय यात्रा की भी अनुमति नहीं ली गयी है। न्याय यात्रा के दौरान हाट-बाजारों में जनता कांग्रेस नेत्री डॉ.रेणु जोगी लगातार सभाएं ले रही हैं।  जबकि क्षेत्र में महामारी के कारण धारा 144 प्रभावी है।
 
                  दुबे ने आरोप लगाया है कि कोटा विधायक के समर्थक मतदाताओं से भाजपा को वोट देने के लिये कह रहे हैं। जनता के बीच पर्चियां बांटी जा रही है। जनता पर्चियां के सहारे दुकान से साड़ी कम्बल उठा रही है।
 
                दुबे ने बताया कि शिकायत के बाद केन्द्रीय पर्यवेक्षक आईएएस जे एस गौतम और जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह से मुलाकात कर सभाओं पर रोक लगाने की मांग की। कलेक्टर ने बताया कि न्याय यात्रा के लिये वाट्सएप पर अनुमति मांगी गई थी। लेकिन हमने अनुमति नहीं दी  है। इसका जवाब वाट्सएप पर ही दिया गया है। 
 
            आज इस मामले की जांच शुरू कर दी गयी है। 24 घंटे के भीतर कार्रवाई की जानकार ी हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *