कलेक्टर की दो टूक, प्राचार्य -शिक्षक समय पर आए स्कूल,अन्यथा कार्यवाई

जांजगीर-चांपा/ कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शिक्षा विभाग और आदिवासी विकास की समीक्षा बैठक ली। जिले के सभी विद्यालयों एवं छात्रावासों का मरम्मत कराने, साफ-सफाई, रंग-रोगन, अभियान चलाकर करने के निर्देश दिए।  बैठक में कलेक्टर ने छात्रावास अधीक्षक-अधीक्षिकाओ से कहा कि छात्रावासों की स्थिति अच्छी हो छात्र-छात्राओं को अच्छा वातावरण मिले, गुणवत्ता युक्त भोजन मिले यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा बच्चा संरक्षण में आप उसके अभिभावक है। आप छात्रावास के बच्चों को अपना बच्चा मानिए।

जिससे जिले में शिक्षा के स्तर में विकास होगा। कलेक्टर ने सभी छात्रावास अधीक्षकों से छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य परीक्षण करने के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने प्रतिमाह स्वास्थ्य परीक्षण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने छात्रावास में निवासरत बच्चों के शतप्रतिशत जाति प्रमाण पत्र बनवाने को कहा। कलेक्टर ने सभी छात्रावास अधीक्षक-अधीक्षिकाओ को छात्रावास में रहना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

बैठक में कलेक्टर ने आश्रम/छात्रावासों, स्टोर रूम के रख रखाव, कन्या छात्रावसों में सीसी कैमरे की स्थिति, भोजन की गुणवत्ता स्वास्थ्य परीक्षण की स्थिति, विद्युत व्यवस्था तथा छात्रावासों में सामग्री का अपलेखन करने के संबंध में विस्तृत चर्चा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

कलेक्टर ने बैठक में जिले में संचालित स्कूलों में पदस्थ शिक्षकों एवं प्रचार्यों को समय पर विद्यालय आने के निर्देश दिए। अनुपस्थित पाये जाने पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होने जिले में संचालित स्कूल भवनों व स्कूलों की शौचालय की स्थिति की जानकारी लेते हुए मरम्मत योग्य होने पर शीघ्र मरम्मत कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मध्यान भोजन के संबंध में जानकारी लेते हुए बच्चों को मीनू के अनुरूप पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.