ऑनलाइन ठग गिरोह का फूटा भांडा..सरगना समेत तीन आरोपी गिरफ्तार..एसपी माथुर ने बताया..पांच सदस्यी टीम ने 3राज्य का किया दौरा..आरोपी कटनी में पकड़ाए

बिलासपुर—- पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने खुलासा किया कि मुद्रा लोन दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी करने वाले  गिरोह के सरगना समेत तीन आरोपियों को गिऱफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपी रैकेट बनाकर व्यापक स्तर पर ठगी को अंजाम देते थे। आरोपियों के कब्जे से 2.55 लाख नगद के अलावा  4.5 लाख से अधिक की संपत्ति बरामद किया गया है। आरोपियों के पास से एक लेपटॉप, एक टेबलेट 4 मोबाईल, 6 विभिन्न कंपनियों के सिम कार्ड , 31 नग विभिन्न बैंकों के ए.टी.एम कार्ड, 14 बैंक पास बुक, 12  चेक बुक भी जब्त किया गया है।
 
                   पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा  किया कि सुनियोजित तैयारी के साथ रैकेट बनाकर आनलाइन ठगी को अंजाम देने वाले गिरोह का  बिलासपुर पुलिस ने पर्दाफाश किया है। आनलाइन ठगी गिरोह के सभी सदस्यों को कटनी से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने दिल्ली, गुड़गांव, बनारस और कटनी में स्थान बदलकर ऑन लाईन ठगी के काम को आंजा्म दे रहे थे।
 
               पारूल माथुर ने बताया कि पकड़े गओ आरोपी विभिन्न कंपनियों के वेबसाईट्स के क्लोन बनाकर जनता के साथ ठगी करते थे। पुलिस की पांच सदस्यीय टीम ने एक सप्ताह में 3 राज्यों में छापामारी कर कटनी से सभी आरोपीयों को पकड़ रैकेट का भांडाफोड़ किया है। 
 
 
                पुलिस कप्तान ने बताया कि रेलवे कालोनी निवासी जसविंदर कुमार ने तारबाहर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया कि पैतृक मकान निर्माण के लिये लोन की आवश्यकता हुई। लोन के लिये ऑन लाईन वेबसाईट सर्च किया। इसी दौरान मुद्रा फाइनेंस और  बजाज फाइनेंस से लोन दिलाने के नाम पर कॉल किया। इसी दौरान अज्ञात आरोपियों के हाथों 4,32,535 रूपयों की आनलाइन ठगी का शिकार हो गया।
 
                   शिकायत मिलने के बाद तत्काल आरोपियों की धरपकड़ को लेकर टीम को तैयार किया गया। अतिरिक्त पुलिसकप्तान  राजेन्द्र कुमार जायसवाल और सीएसपी स्नेहिल साहू को दिशा निर्देश देकर आरोपियों की पतासाजी करने को कहा गया। साथ ही साइबर सेल को भी निर्देश दिया गया ।
 
                        टीम ने जांच पड़ताल के दौरान तकनिकी प्रमाण को एकत्रित किया।  इस दौरान जानकारी मिली कि गिरफ्तारी से बचने आरोपी गण लगातार बदलने के साथ ही मोबा्इल नम्बर भी बदल रहे थे। तोरवा से 5 सदस्यीय पुलिस टीम को आरोपियों को पकड़ने दिल्ली और गुडगांव रवाना किया गया । पुलिस टीम ने तकनिकी साक्ष्य के आधार पर पाया कि सभी आरोपी मध्यप्रदेश के कटनी में छिपे हुए है।
                               
          पुलिस टीम ने आरोपियों को घेराबन्दी कर गिरफ्तार किया। कब्जे से  मोबाईल फोन, विभिन्न कंपनियों के सिम कार्ड, लेपटॉप, टेबलेट, विभिन्नबैंकों के ए.टी.एम कार्ड, बैंक पास बुक, चेक बुक और ठगी के रकम में से 2,55,000 रूपये बरामद किया। बरामद बैंक खातों का अध्ययन कर बैंक खातों में जमा रकम को होल्ड कराने संबंधित बैंक से पत्राचार किया गया है।
 
                            पुलिस कप्तान ने बताया कि कार्यवाही में थाना तोरवा प्रभारी फैजुल होदा शाह, उप निरीक्षक हृदय शंकर
पटेल, प्रधान आरक्षक दिनेश सिंह, धर्मेन्द्र साहू, यशपाल टंडन लक्ष्मी कश्यप  सायबर सेल से उप निरी- प्रभाकर तिवारी, महिला आरक्षक  शकुन्तला साहू और – सतीश का विशेष सराहनीय योगदान रहा।
 
पकड़े गए आरोपियों का नाम पता ठिकाना
 
1) रविन्द्र कुमार पिता नन्दलाल निवासी- पिण्डरा थाना- फूलपुर, जिला- वाराणसी,मुख्य सरगना 
2) विकास कुशवाहा पिता प्रमोद कुशवाहा  निवासी- माडर, थाना- विजयपुर, जिला- गोपाल गंज (बिहार)
3)  सुजित कुमार मुखिया पिता उमेश मुखिया निवासी ग्राम बेहारी थाना बेहारी जिला – दरभंगा, बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *