संसदीय सचिव यू. डी. मिंज ने हमर तिरंगा रैली में शामिल होकर लोगों का उत्साह किया दोगुना, तिरंगा रैली का हुआ समापन

जशपुर ।आजादी के अमृत महोत्सव 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में हर घर तिरंगा अभियान के दौरान विधानसभा कुनकुरी में आम नागरिकों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। संसदीय सचिव एवं विधायक कुनकुरी यू डी मिंज के नेतृत्व में विधानसभा स्तर के समापन रैली में आज तीनों फरसाबाहर, दुलदुला एवं कुनकुरी विकासखंड के गणमान्य नागरिक, कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्त्ता शामिल हुए।
विधानसभा क्षेत्र कुनकुरी के फरसाबाहर कुनकुरी क्षेत्र में भ्रमण कर तिरंगा रैली निकाली गई जिसके समापन अवसर कुनकुरी के गणमान्य नागरिक,जनता, जिला अध्यक्ष कांग्रेस महामंत्री,ब्लॉक के कांग्रेस अध्यक्ष, बीडीसी,डीडीसी एवं पदाधिकारी स्कूली छात्र छात्राओं ने रैली निकाला. स्कूली छात्र छात्राओं की रैली खेल मैदान कुनकुरी में समाप्त हुई हुई,वहीँ पदाधिकारियों एवं अन्य लोगों की रैली बस स्टेण्ड कुनकुरी में समापन हुई ।

संसदीय सचिव यू.डी. मिंज ने तिरंगा रैली में शामिल होकर लोगों का उत्साह दोगुना कर दिया। तिरंगा रैली ज़ब नगर के भ्रमण पर निकली तो बड़ी संख्या में महिलाएं पुरुष व बच्चे शामिल हुए। यह तिरंगा यात्रा शहर की जिस-जिस सड़क से होकर भ्रमण करते हुए आगे बढ़ रही थी, उस दौरान लोग अपने अपने घरों और रास्ते में खड़े होकर साथ ही हाथ में तिरंगा झंडा लेकर रैली का अभिवादन कर रहे थे । इस दौरान लोगों का उत्साह देखते ही बन रहा था।

देश की आन बान शान का प्रतीक राष्ट्रीय ध्वज लिए तिरंगा यात्रा के दौरान लोगों के मुंह से सिर्फ यही निकल रहा था भारत माता की जय तिरंगे झंडे की जय, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, नेताजी सुभाषचंद्र बोस, सरदार वल्लभ भाई पटेल सहित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की जयकारा लगाया जा रहा था।

आज की तिरंगा रैली में संसदीय सचिव यू. डी. मिंज ने कहा कि आज देखकर यह पंक्ति याद आ गई, सुप्रसिद्ध कवि श्री रामधारी सिंह दिनकर की रचना – जो भरा नहीं है भावों से बहती जिसमें रसधार नहीं, वह हृदय नहीं है, पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं। राष्ट्र के प्रति गौरव और सम्मान के लिए गांव से लेकर शहर तक हर घर में तिरंगा फहराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देशभक्ति की भावना को विकसित करने के साथ देश के प्रति समर्पित रहने के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। हर घर तिरंगा अभियान के पहले दिन आम नागरिकों ने अपने अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज प्रदर्शित किया।

ज्ञात हो कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर 11 से 17 अगस्त तक हर घर झंडा कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिले वासियों से अपने-अपने घरों में तिरंगा झंडा लगाकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील किए हैं। उसी के परिणाम स्वरूप लोगों ने स्वर्स्फूत होकर तिरंगा हर घर लहराया। 13 से 15 अगस्त तक समस्त शासकीय कार्यालय सार्वजनिक उपक्रमों सामाजिक संगठनों एवं सर्वसाधारण जन के निवास स्थानों पर ध्वजारोहण किया जा रहा है।जिसमें विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतितिनधि, युवा वर्ग, स्कूली छात्र छात्राओं , महिला स्व सहायता समुह से जुड़ी बहने हाथ में तिरंगा लेकर जयघोष के साथ भ्रमण किया। इस दौरान संसदीय सचिव यू. डी. मिंज पूरे समय साथ में रहकर उनका मनोबल बढ़ाया। स्वयंसेवी संगठन, व्यापारी संगठनों, गणमान्य नागरिकों द्वारा ऐतिहासिक हमर तिरंगा रैली का जगह-जगह स्वागत और अभिनंदन किया।इस रैली में आज जिला अध्यक्ष मनोज सागर,वरिष्ठ कांग्रेसी अद्याशंकर त्रिपाठी गजेंद्र जैन ओम शर्मा, एस इलियास, अरविन्द साय, निरंजन ताम्रकार, नवीना पैंकरा,इफ़्तेखार हसन, नीरज पारीक, निर्मल सिंह,जगदीश आपाट, अंजना मिंज समेत सैकड़ो की संख्या में कांग्रेस जन एवं नागरिक शामिल हुए.।

संसदीय सचिव यू. डी. मिंज ने दी स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में उन्होंने कहा है कि इस साल भारत को आजादी मिले 75 साल पूरे हो रहे हैं। इस खुशी में पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। हजारों लोगों के कठिन संघर्ष, त्याग और बलिदान से हमें यह अमूल्य आजादी मिली है। अलग-अलग जाति, धर्म, खान-पान, बोली-भाषा और भौगोलिक विविधता वाले भारत की आजादी के बाद उसके स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में सफल होने की आशंका जताई गई थी। लेकिन अनेक चुनौतियों के बावजूद आज भारत पूरे विश्व में सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में अपनी पहचान बना चुका है।

आजादी के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले सभी अनाम योद्धाओं, शहीदों और वीर जवानों को नमन करते हुए संसदीय सचिव यू. डी. मिंज ने कहा है कि जिनके बलबूते आज हम आजाद वातावरण में सांस ले रहे हैं, उन्हें याद कर मन सम्मान और गर्व से भर जाता है।हमारे पुरखों ने आजादी के बाद जिस लोकतंत्रात्मक गणराज्य का सपना देखा था, उसे पूरा करना हम सब की जिम्मेदारी है। इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए राज्य सरकार गांधीवादी सोच के साथ ‘गढ़बो नवा छत्तीसगढ़‘ की परिकल्पना को साकार करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। राज्य सरकार की प्राथमिकता समाज के सबसे कमजोर वर्ग को सशक्त बनाने, गांवों को मजबूत करने और हर व्यक्ति तक बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने की है। बुनियादी स्तर पर गांवों को मजबूत करने के लिए किसानों और महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने की पहल की गई है।

उन्होंने कहा कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ को खास बनाने के लिए छत्तीसगढ़ में हमर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत सभी लोग अपने घरों, शासकीय कार्यालयों, संस्थानों में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर इस गौरवशाली अवसर पर अपनी भागीदारी निभाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *