SP पारूल माथुर ने बताया..डकैती में शामिल दिव्यांग सरगना समेत 6 आरोपी गिरफ्तार..11 लाख 70 हजार बरामद..घटना में नाबालिग भी शामिल

बिलासपुर—पुलिस कप्तान ने आज बिलासागुड़ी में पत्रकारों को बताया कि एक दिन पहले बिजली आफिस में तेरह लाख से अधिक सरकारी राशि लूटने वालों को गिरफ्तार कर लिया है। डकैती काण्ड में शामिल कुल सात में से 6 आरोपियों ने डकैती का अपराध कबूल भी कर लिया है। जबकि सातवां आरोपी धर्मेन्द्र यादव फरार है। जल्द ही फरार आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आरोपियों से 11 लाख से अधिक रूपया बरामद किया गया है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि बाकी रूपए धर्मेद्र के पास है। 
गिरफ्तार आरोपियों का नाम  और पता
 
1) पिन्दु यादव पिता भइया लाल यादव निवासी डिसपेंसरी के पीछे गांधी चौक क्षेत्र करबला।
2) विक्की सिंह पिता बंश बहादुर सिंह निवासी मधुबन रोड लकड़ी टाल थाना सिटी कोतवाली
3) मंगल सिंह गोड पिता श्याम सिंह गोड निवासी मधुबन थाना सिटी कोतवाली बिलासपुर
4)राजा गोड पिता श्यामू गोड निवासी शिखा वाटिका मधुबन थाना सिटी कोतवाली बिलासपुर
5) शुभम बैस पिता स्व. महेश बैस निवासी मधुबन गौशाला के पास थाना सिटी कोतवाली
6) घटना में शामिल एक नाबालिग
 
               पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने बिलासागुड़ी में पत्रकार को बताया कि बिजली आफिस में डकैती काण्ड में शामिल 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अपराध में शामिल आरोपी धर्मेन्द्र यादव फरार है। पुलिस कप्तान ने खुलासा किया कि फरार आरोपी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पूरे घटनाक्रम में एक नाबालिग बालक को भी गिरफ्तार किया है।
 
                           पुलिस कप्तान ने बताया कि पीपरखुंटा लालपुर निवासी विरेन्द्र सोनवानी ने सिविल लाइन थाना में डकैती की रिपोर्ट दर्ज कराया। प्रार्थी ने बताया कि हाल फिलहाल परिजात कालोनी नेहरू में रहता है। 14 नवमन्बर 2022 की शाम करीब 7.15 बजे बिजली बिल जमा रकम को एटीपी मशीन से निकाल कर गिन रहा था। उसी समय अज्ञात नकाबपोश पहुंचे। पिस्तोल  दिखाकर डरा धमकाया। चाकू की नोक पर बिजली बिल जमा कुल राशि 13.33,000 रूपये लूट कर फरार हो गए। सिविल लाइन पुलिस की रिपोर्ट पर थाना सिटी कोतवाली में आईपीसी की धारा 458, 395, 397, 120 का अपराध दर्ज किया।
 
                जानकारी के बाद पुलिस कप्तान पारूल माथर ने टीम का गठन कर आरोपियो को तत्काल गिरफ्तार करने को कहा। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर राजेन्द्र जायसवाल,अतिरिक्त पुलिस कप्तान ग्रामीण राहुल देव शर्मा, नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली पूजा कुमार, नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन संदीप पटेल के मार्ग दर्शन में टीम ने जांच पड़ताल शुरू किया।
 
                          पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने पत्रकारों को बताया कि निरीक्षक सिटी कोतवाली प्रदीप आर्य, एसीसीयू प्रभारी हरविंदर सिंह की अगुवाई में संयुक्त टीम ने फरार आरोपियो को चंद घंटों में धर दबोचा। आरोपियों ने से पूछताछ के तथ्य सामने आया कि आरोपियों ने 15 दिनो पहले से ही डकैती की रणनीति तैयार किया था।
 
सरगना शरीर से दिव्यांग
 
          मुख्य आरोपी पिन्टु यादव बिजली आफिस बिजली बिल जमा करने आता जाता था।  एटीपी मशीन में अधिक मात्रा में रूपये होने की उसे जानकारी थी। पिंटू यादव पहले लाईन मेन का कार्य कर चुका है। वह दिव्यांग भी है। आरोपियो ने लूट की रकम को नारियल कोठी स्थित मधुबन शमशान घाट में बैठकर आपस में बराबर बंटवारा किया। प्रार्थी के पर्स और दस्तावेजो को मधुबन के पीछे स्थित झाडियो से खोजा गया। मोबाईल को नदी में फेंक दिया।
 
                   आरोपियो से लूट की रकम 11,70,000 रूपये निशानदेही पर जब्त किया गया है। पारूल माथुर ने बताया कि बाकी लूट  की रकम फरार आरोपी के पास है। फरार आरोपी धर्मेन्द्र की पतासाजी की जा रही है। गिरफ्तार किए गए सभी 6 आरोपियों को न्यायालय के सामने पेश किया गया है।
 
इन्होने दिया विशेष योगदान
 
           पूरी कार्रवाई में निरीक्षक प्रदीप आर्य, निरीक्षक हरविंद्र सिंह, उपनिरीक्षक रविन्द्र यादव, मनीष कांत, यू.एन.
शांत साहू, सहायक उप निरीक्षक विजय राठौर, गुलाब पटेल,भानू पात्रे, जीवन साहू, प्रधान आरक्षक संतोष केरकेट्टा,  निर्मल सिंह, पूहुप सिंह, बलबीर सिंह, नरेंद्र उपाध्यय. आरक्षक प्रेम सूर्यवंशी, कमलेश सूर्यवंशी, अजय शर्मा, रंजीत खाण्डे, रंजीत खरे, मनोज साहू, रवि शर्मा, दीपक केरकेट्टा, विरेंद्र राजपूत, रवि राजपूत, ऋषि कुमार, धर्मवीर सिंह, विवेक राय, दीपक उपाध्याय, रामलाल सोनवानी, सत्य कुमार पाटले, प्रशांत सिंह का विशेष योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *