ग्राम पंचायत बीजा और पटैता ने कायम की मिसाल,ग्रामीणों ने शत प्रतिशत करवाया टीकाकरण

बिलासपुर।जिले में कोविड-19 के संक्रमण से बचने में टीकाकरण की महत्वपूर्ण भूमिका है, यह अब लोग समझने लगे हैं। शहरी क्षेत्रों के अतिरिक्त अब ग्रामीण इलाकों में भी लोग स्वस्फूर्त टीका लगवा रहे हैं।जिले में अनेक ऐसे ग्राम भी हैं, जहां के लगभग शत-प्रतिशत लोगों ने वैक्सिनेशन पर भरोसा जताया और स्वस्फूर्त होकर टीका लगवाया। विकासखण्ड तखतपुर के ग्राम बीजा एवं कोटा विकासखंड के ग्राम पंचायत पटैता में भी लोगों ने शत प्रतिशत टीका लगवाकर स्वयं के जागरूक  होने का परिचय दिया है।कलेक्टर डॉ सारांश मितर के मार्गदर्शन में 45 साल से अधिक आयु वाले लोगों का वैक्सिनेशन करने टीकाकरण अभियान द्रुतगति से चलाकर शेष बचे हुए लोगों को प्रेरित व प्रोत्साहित किया जा रहा है। ग्राम पंचायत बीजा के सरपंच श्री रामकुमार टंडन ने बताया कि पंचायत  में 45 साल से ऊपर आयु के 677 हैं, जिनमें सभी 677 लोगों को टीका लग चुका है, अर्थात् वैक्सिनेशन के लक्ष्य के विरूद्ध शत प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका  है।  

ग्राम के ही अशोक साहू, श्री रामफल राही, जमुना बाई ने बताया कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है इसमें डरने की कोई जरूरत नहीं है। पहले उन्हें भी थोड़ा डर जरूर लगा था,लेकिन लगवाने के बाद बिलकुल सामान्य स्थिति है। अब ग्रामीणों के मन में टीकाकरण को लेकर किसी तरह की भ्रांति या संशय नहीं है। इस प्रकार ग्रामीणों ने कोरोना वायरस से बचने के लिए टीकाकरण पर भरोसा जताया है। कुछ लोग स्वयं टीकाकरण केन्द्र पहुंचकर टीका लगवा रहे हैं, जबकि कुछ ऐसे वयोवृद्ध जो केन्द्र तक आने में सक्षम नहीं है, उनकी मदद स्थानीय लोग करते हुए उन्हें टीकाकरण केंद्र तक ले आ रहे हैं।

विकासखंड कोटा के ग्राम पंचायत पटेता में ग्रामीणों ने टीके पर भरोसा जताते हुए टीकाकरण करवा लिया है। ग्राम पंचायत के सरपंच श्री भूपेंद्र सिंह जगत ने बताया कि ग्राम पंचायत में 45 वर्ष से अधिक आयु के 396 लोग हैं, सभी ने टीका लगवा लिया है। इस प्रकार ग्राम पंचायत की टीकाकरण में शत् प्रतिशत उपलब्धि है।टीकाकरण कार्य में ग्रामीण स्वास्थ्य अधिकारी, स्थानीय सरपंच-पंच, सचिव, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहित कोटवार भी महती भूमिका निभा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *