तब क्यों नहीं आयी लोकतंत्र की याद ..अटल समेत कांग्रेसियों ने कहा.जेल भरो आंदोलन कुछ नहीं..खुद को सीएम चेहरा बताने का प्रयास

बिलासपुर—पर्यावरण मण्डल बोर्ड अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने भाजपा के जेल भरो आंदोलन के एलान को हताशा बताया है। अटल ने सवाल किया है कि नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक बताएं कि 40 बंद ट्रेनों को चालू कराने कब जेल भरेंगे। इससे गरीब जनता का ही कल्याण होगा। पिछले दो साल से अधिक समय से बिलासपुर की जनता हवाई सेवा की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। बावजूद इसके भाजपा नेता मुंह में दही जमाकर बैठे हैं। अच्छा होता कि जनहित में बंद छोटे स्टेशनों पर स्टापेज चालू कराने को लेकर भाजपा नेता जेल भरते तो जनता का भी भरपूर सहयोग मिलता है। कांग्रेस पार्टी भी कदम से कदम मिलाकर साथ चलती।
                  छत्तीसगढ़ विधानसभा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बिलासपुर में भारतीय जनता पार्टी की बैठक को पर्यावरण मण्डल बोर्ड अध्यक्ष ने बकवास बताया है। अटल श्रीवास्तव ने कहा कि जानकारी मिली है कि भाजपा नेता 16 मई को जेल भरो आंदोलन करेंगे। आंदोलन के बहाने जमीन की तलाश करेंगे। कितना अच्छा होता कि नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक बन्द चालिस गाड़ियों को लेकर सड़क पर उतरते। बन्द छोटे रेलवे स्टापेज की मांग रेलवे मंत्रालय से करते है। इससे जनता का हित ही होता। लेकिन उनमें इतनी हिम्मत नहीं है कि प्रधानमंत्री और रेलमंत्री के सामने मुंह खोल सके। जाहिर सी बात है कि ऐसा करने से गरीब और मध्यमवर्गीय जनता के साथ कर्मचारियों और व्यापारियों को लाभ होता। लेकिन जनविरोधी मानसिकता वाले भाजपा नेताओं से ऐसी उम्मीद करना बेईमानी है। 
            कांग्रेस के नेता पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, महापौर रामशरण यादव, सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रमोद नायक, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान, बिल्हा छाया विधायक राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय ने संयुक्त रूप बयान जारी कर बताया कि नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक एवं भाजपा यदि बिलासपुर जोन की बंद 40 ट्रेनों को चालू कराने का प्रयास करना चाहिए। रेलवे जोन बिलासपुर समेत पूरे देश के 650 छोटे स्टेशनों के स्टॉपेज को बन्द कर दिया गया है। बिलासपुर की जनता बिलासा दाई केंवटिन हवाई अड्डे से महानगरों तक हवाई सेवा और  4सी लाईसेंस के लिए जेल भरो आंदोलन को तैयार बैठी है। बिलासपुर की जनता भी साथ देती। लेकिन अपनी नाकामियों के भय से भाजपा के नेता मुंह बन्द कर बैठे हैं।
               कांग्रेस नेताओं ने आगे कहा कि मुद्दा विहिन नेतृत्व विहिन प्रदेश भाजपा भूपेश बघेल सरकार के सामने लाचार है। हाई कमान का हंटर पड़ने के बाद प्रदेश  भाजपा के नेता एक ऐसे मुद्दे पर आंदोलन कर रहे हैं। जो 15 साल से प्रदेश में लागू है। धरना प्रदर्शन और आंदोलन के लिए 15 साल की रमन सरकार में भी सूचना देने और अनुमति लेने नियम था। वर्तमान भूपेश बघेल सरकार ने भी आवेदन की जगह फार्म भरने का नियम बनाया है। कवर्धा दंगा करने वाले लोग फार्म भरने से आखिर क्यों कतरा रहे हैं?
            कांग्रेस नेताओ ने कहा कि रायपुर में डी.पुरंदेश्वरी प्रभारी छत्तीसगढ़ और बिलासपुर में सह-प्रभारी नवीन प्रसाद ने सार्वजनिक रूप से घोषणा करते हैं कि भाजपा प्रदेश में अगला चुनाव मोदी और  कमल छाप पर लड़ेगी। इससे स्पष्ट हो गया कि प्रदेश में जनता के सामने पेश करने लायक रमन सिंह, धरमलाल कौशिक, विष्णु देव साय का चेहरा भी नहीं है। यही कारण है कि अपने आपको अपमानित महसुस करते हुए इन चेहरों ने जेल भरो आंदोलन का एलान किया है।
            भाजपा 15 सालों में जनता से दूर हो गई थी। अब 3 सालों में जनता के मुद्दों से भी दूर हो गई है। धरमलाल कौशिक भूल गये हैं कि इसी बिलासपुर में रमन सिंह सरकार के कार्यकाल में कांग्रेस भवन के अंदर घूस कर लाठी चार्ज किया गया था। , तब धरमलाल कौशिक को लोकतंत्र की याद नहीं आई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *