कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होताःराज्यपाल

kaushal

रायपुर ।  राज्यपाल  बलरामजी दास टंडन बुधवार को  यहां रायपुर में तकनीकी शिक्षा एवं जनशक्ति नियोजन विभाग द्वारा विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर श्रम मंत्री  भैयालाल राजवाड़े, प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा श्रीमती रेणु पिल्ले, विषय विशेषज्ञ श के.के. दत्ता सहित बड़ी संख्या में युवा उपस्थित थे।
मुख्य अतिथि की आसंदी से कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि हमारा देश युवाओं का देश है। उनमें अत्यधिक शक्ति एवं ऊर्जा है, जिसकी बदौलत वे संकल्प लेकर सफलता के मार्ग खोल सकते हैं। उन्होंने युवाओं से कहा कि कोई भी कार्य छोटा या बड़ा नहीं होता। अपने जीवन में शैक्षणिक योग्यता के साथ ही एक अतिरिक्त कौशल जरूर अर्जित करें और हुनरमंद बनें। स्वयं को रोजगार योग्य बनाने के लिए हमारे युवा किसी एक क्षेत्र में विशेषज्ञता एवं कौशल हासिल करें। आगामी वर्षों में ऐसे दक्षता प्राप्त व्यक्तियों की आवश्यकता होगी, जो विभिन्न क्षेत्रों में अपने हुनर के साथ कार्य कर सकें। सुनहरे भविष्य के लिए कौशल विकास के क्षेत्र में सभी को मिलकर कार्य करने की जरूरत है।
कार्यक्रम के प्रमुख वक्ता एवं विशेषज्ञ श्री के. के. दत्ता ने कहा कि युवाओं को कौशल का प्रशिक्षण देने के साथ ही यह भी जरूरी है कि उसका समुचित उपयोग हो सके। स्कूल एवं महाविद्यालय स्तर पर ही कौशल विकास कार्य प्रारंभ किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि वैश्वीकरण के युग में तकनीक में नित नए परिवर्तन होते रहते हैं। यह जरूरी है कि मानवीय संसाधन समय के अनुरूप अपेक्षित परिवर्तन एवं ज्ञान से लैस होते रहें तथा नए परिवेश के अनुरूप कार्य करने के लिए प्रशिक्षित हों। इसके लिए सभी स्टेकहोल्डर्स को एक साथ मिलकर कार्य करने की जरूरत है।
प्रमुख सचिव, तकनीकी शिक्षा श्रीमती रेणु पिल्ले ने स्वागत उद्बोधन में कहा कि आज का दिन संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा विश्व युवा कौशल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन का भारत के लिए अधिक महत्व है। हमारे देश में युवाओं की संख्या अधिक है, लेकिन दक्ष एवं कुशल युवाओं की संख्या कम है। उन्होंने प्रदेश में कौशल विकास के लिए चलाए जा रहे योजनाओं की जानकारी भी प्रदान की। राज्यपाल ने इस अवसर पर कौशल प्रशिक्षण प्राप्त प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए। इस अवसर पर शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज रायपुर के प्राचार्य श्री जी. सी. साहू भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.