मीडिया ने भी उड़ाया राहुल का मजाक–दुर्गेश

IMG20170104125136बिलासपुर— जिला कांग्रेस कार्यालय में राष्ट्रीय नोटबंदी समन्वयक समिति के सदस्य दुर्गेश पटेल ने कांग्रेस नेताओं को संबोधित किया। बैठक के दौरान दुर्गेश पटेल ने नोटबंदी के बाद देश पर पड़ने वाले आर्थिक नकुसान को गिनाया। दुर्गेश ने बताया कि प्रधानमंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था को बीस साल पीछे धकेल दिया है। बैठक के बाद दुर्गेश पटेल ने नोटबंदी के देश पर पड़ने वाले असर की जानकारी पत्रकारों को दी।

                             दुर्गेश पटेल ने बताया कि नोटबंदी के बाद देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी है। किसान परेशान हैं…जनता हैरान है…नौजवानों का रोजगार छीन लिया गया है। नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रीय स्तर पर जिला कार्यालयों के सामने धरना प्रदर्शन का एलान किया है। दुर्गेश ने बताया कि 6 जनवरी को देश के कोने कोने में नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस नेता कलेक्टर कार्यालय का घेराव करेंगे। पटेल ने नोटबंदी को प्रधानमंत्री का महाविफल अभियान था। उन्होने कहा कि केवल कुछ चुनिंदा व्यापारी और बैंकरों को लाभ पहुंचाने के लिए ही नोटबंदी का निर्णय लिया गया।

              कांग्रेस का प्रदेश व्यापी आंदोलन फ्लाप शो साबित होने के सवाल को दुर्गेश पटेल ने नकार दिया। उन्होने कहा कि सरकार ने प्रदेश व्यापी आंदोलन को असफल बनाने का भरपूर प्रयास किया। लेकिन जनता ने सरकार के प्रयासों को नकार दिया। एक अन्य सवाल के जवाब में दुर्गेश ने बताया कि निकाय चुनाव में हार की मुख्य वजह भाजपा की धोखाधड़ी वाली नीति है। नोटबंदी के बाद जनता को उम्मीद थी कि कालाधन पकड़ा जाएगा। महंगाई कम होगी। आतंकवाद से छुटकारा मिलेगा। लेकिन पचास दिन बाद जनता को समझ आया कि उनके छल किया गया है। नोटबंदी अभियान केवल चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए लाया गया था। पटेल ने बताया कि भाजपा को उत्तर प्रदेश चुनाव में समझ में आ जाएगा कि नोटबंदी का साइड इफेक्ट क्या होता है।

                                क्या  राहुल गांधी जिला कार्यालयों का घेराव कर भूकंप लाना चाहते है के सवाल पर दुर्गेश ने कहा कि मीडिया ने राहुल गांधी की बातों हल्के में लिया है। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से सवाल क्या किया उन्होने देश के बड़े कद के नेता का मजाक उड़़ाना शुरू कर दिया। दुर्गेश ने बताया कि राहुल गांधी ने तो सिर्फ यही पूछा है कि उद्योगपतियों की डायरी में प्रधानमंत्री का नाम क्यों आया।

                     दरअसल भाजपा नेता राहुल गांधी का जवाब देने बच रहे हैं…इसलिए सोची समझी रणनीति के तहत राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का मजाक उड़ाना शुरू कर दिया। यह अच्छी बात नहीं है।

                     दुर्गेश पटेल ने बताया कि 6 जनवरी को देश भर के सभी कलेक्टर कार्यालयों का घेराव किया जाएगा। 9 जनवरी को महिला मोर्चा कार्यकर्ता जिला कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन करेंगीं। इस दौरान देश के सभी किसान,गरीब,मजदूर भी कांग्रेस के साथ नोटबंदी अभियान के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेंगे।

     दुर्गेश ने गुटबाजी के सवाल पर कहा कि कांग्रेस देश की बड़ी पार्टी है। परिवार में कुछ लोग तेज तो कुछ लोग शांत स्वभाव के होते हैं। इसका अर्थ यह नहीं कि परिवार में खटपट है। कांग्रेस में गुटबाजी से इंकार करते हुए दुर्गेश ने कहा कि विचारों को लेकर थोडी बहुत नाराजगी सभी दलों में होती है। लेकिन नाराजगी का अर्थ यह नगीं होता है कि कांग्रेस में कलह है। बल्कि इससे यह जाहिर होता है कि कांग्रेस का आंतरिक लोकतंत्र काफी मजबूत है।

                      नोटबंदी समन्वय समिति के बैठक में पूर्व सासंद पीआर खूंटे, पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव,जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला,शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, अभयनारायण राय, शिवा मिश्रा,जसबीर गुम्बर,अनिल सिंह चौहान, सैयद जफर अली, निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरूद्दीन, पार्षद दल प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल,विवेक वाजपेयी समेत सैकड़ों कांग्रेस पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *