मुख्यमंत्री उम्मीदवार को थाना में 6 घंटे बैठाया…आप नेताओं में आक्रोश…कहा..बस्तरिहा लेगें बदला..सरकार परेशान

रायपुर–आम आदमी पार्टी मुख्यमंत्री उम्मीदवार कोमल हुपेन्डी को राज़धानी से गृहग्राम पहुंचने से 10  किलोमीटर पहले पुलिस ने कांकेर ज़िले के कोरर थाने में बैठा कर रखा। आम आदमी पार्टी नेताओं ने पुलिस के इस प्रकार के व्यवहार को लेकर नाराजगी जाहिर की है। आम आदमी पार्टी के प्रदेश मीडिया समन्वयक उचित शर्मा ने कहा पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार कोमल हुपेन्डी और साथियों के साथ अपराधियों की तरह व्यवहार ना केवल शर्मनाक है। बल्कि अब स्प्ष्ट हो गया है कि भाजपा सरकार डर गयी है।
                 प्रेस नोट जारी कर आप मीडिया समन्वयक उचित शर्मा ने बताया कि राज़धानी से घर लौट रहे आप मुख्यमंत्री उम्मीदवार कोमल हुपेन्डी को 6 घण्डे कोरर थाने में बैठा कर रखा गया। बिना किसी अपराध के नेता को जबरिया थाने में  बैठाया जाना गहरी साजिश की तरफ इशारा करता है। उचित शर्मा के अनुसार कोमल हुपेन्डी रायपुर से अपने गृहग्राम लौट रहे थे। कांकेर जिले की कोरर थाना में हुपेन्डी और उनके साथियों को 5 – 6 घंटे पुलिस ने बैठाकर मनोबल तोड़ने का प्रयास किया ।
           शर्मा के अनुसार मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित होने के बाज पहली बार गृह ग्राम पहुँचने की खबर से समूचा बस्तर खुशी से झूम रहा था। क्योंकि आज़ादी के 70 सालों में किसी राजनैतिक दल ने बस्तर के एक बेटे को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। बस्तर एक एक व्यक्ति हुपेन्डी के स्वागत में पलक पाँवड़े बिछाया था। लोग दल गत भावना से ऊपर उठ कर लाड़ले सपूत का अभिनंदन करने पहुंचे। कोई अपने कोमल को करीब से देखना चाहता था तो छूकर रोमांचक क्षणों को अपने दिलों में सँजो लेना चाहता था। आम आदमी पार्टी के मास्टर स्ट्रोक को भाजपा बर्दाश्त नहीं कर सकी। अकारण ही हुपेन्डी और उनके साथियों को थाने में बिठा कर हमारा मनोबल तोड़ने का प्रयास किया गया।
         मीडिया समन्वयक ने कहा कि सरकार मुगालते में ना रहे। आम आदमी पार्टी सत्ता की लालच में राजनीति नहीं कर रही है। भ्रष्ट व्यवस्था को बदलने के लिए आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता ने फैसला कर लिया है। हम सरकार के किसी भी प्रकार के दमन चक्र से डरने वाले नहीं है। हमारी प्राथमिकता में देश पहले हैष  क्योंकि हमने फैसला किया है कि देश को लुटेरों से बचाना है। पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार कोमल हुपेन्डी और साथियों को कोरर थाने में बैठा कर दिए गए मानसिक प्रताड़ना का जवाब बस्तरिहा 12 नवंबर को झाड़ू का बटन दबा कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *