मेरा बिलासपुर

70 लाख में तोरवा..60 लाख में बिका चुचुहियापारा का चखना दुकान…50-50 लाख में बस स्टैण्ड.वसुन्धरा नगर की बोली…आबकारी ने कमाया 3 लाख 20 हजार

बिलासपुर—मंथन सभागार में जिले के 64 और जीपीएम के 2 दुकान मिलाकर कुल 66 शराब दुकानों के लिए आनलाइन टेन्डर खोला गया। इस दौरान कलेक्टर अवनीश शरण विशेष रूप से मौजूद थे। आनलाइन टेन्डर में शहर के महत्वपूर्ण शराब दुकानों के लिए आवेदकों ने ऊंची रकम की बोली लगायी है। दो दिनों के अन्दर सभी आवेदकों को शराब दुकान अहाता में चखना दुकान खोले जाने की प्रक्रिया का पालन करना होगा। अन्यथा दुकान दूसरे नम्बर के बोली लगाने वाले को आवंटित कर दिया जाएगा। आबकारी अधिकारी दिनकर वासनिक ने बताया कि चखना दुकान का आवंटन सर्वाधिक ऊंची बोली लगाने वाले को दिया गया है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

शासन की नई नीति के तहत अब बिलासपुर समेत प्रदेश के सभी दुकानों में चखना दुकान का संचालन नए निर्देशों के तहत संचालित किया जाएगा। इसके लिए शासन ने करीब एक महीने पहले आनलाइन टेन्डर आमंत्रित किया। लोगों ने चखना दुकान संचालन को लेकर बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। प्रारम्भिक समय में निश्चित किया गया था कि आनलाइन टेन्डर राज्य स्तर पर ही खोला जाएगा। लेकिन नियमों को शिथिल करते हुए प्रक्रिया को जिला प्रशासन के हवाले कर दिया गया।

दस मई को कलेक्टर अवनीश शरण की विशेष उपस्थिति में मंथन सभागार में सभी आवेदकों का बिलासपुर और जीपीएम जिले के लिए आनलाइन टेन्डर खोला गया। इसमें बिलासपुर की 66 में 64 और जीपीएम के लिए 3 में 2 दुकानों का यानी कुल 66 चखना दुकानों के लिए आनलाइन टेन्डर निकाला गया।

पांच हजार में एक आवेदन..305 फार्म

जिला आबकारी अधिकारी दिनकर वासनिक ने बताया कि बिलासपुर जिले के कुल 64 शराब दुकानों में चखना दुकान के लिए आनलाइन आवेदन मंगाय गया। प्रत्येक आवेदन पर पांच-पांच हजार रूपया शुल्क निर्धारित किया गया है। कुल 64 चखना दुकानों के लिए 305 आवेदन सही पाए गए। इसके अलावा कई आवेदकों का आवेदन निर्धारित शर्तों के अनुसार गुण दोष के अनुसार रिजेक्ट किया गया है। दो प्रीमियम दुकानों के लिए आवेदन नहीं मंगाये गये थे।

सर्वाधिक और न्यूनतम आवेदन

बिलासपुर के कुल 64  दुकानों में मंगाये गए आवेदनों सर्वाधिक सही आवेदन व्यापार विहार और लिंक रोड शराब दुकान के लिए आए। दोनों दुकानों के लिए दस दस आवेदन मिले। सबसे कम एक-एक आवेदन मधुवन और पौंसरा स्थित शराब दुकानों के लिए किया गया।

दुकान के लिए निर्धारित शर्तें

आबकारी अधिकारी ने जानकारी दिया कि तीन या तीन से अधिक आवेदन मिलने वाले दुकानों के लिए शासन ने नियम और शर्त निर्धारित किया है। किसी दुकान में ज्यादा आवेदन होने की सूरत में एच-1,एच-2,एच-3,एच-4 के तहत क्रम निर्धारित किया गया है। सबसे पहले सर्वाधिक बोली लगाने वाले को ही चखना के लिए अहाता दिया जाता है। दो दिनों के भीतर शर्त पूरी नहीं करने की सूरत में चखना दुकान स्थान के लिए दूसरे नम्बर पर सर्वाधिक बोली लगाने वाले को दिया जाता है। यही क्रम आगे भी रहता है।

    स्थान देने से पहले आवेदक से बेस प्राइज पर दो महीने का रूपया जमा कराया जाएगा। इसके अलावा आवेदक को बेस प्राइज पर तीन प्रतिशत अमानत राशि जमा करना होगा। साथ ही आवेदन को दुकान संचालन के समय बोली के रूपयों के आधार पर महीने के अनुसार किराया देना होगा।

यहां लगायी गयी सर्वाधिक बोली

मंथन सभागार में आनलाइन टेन्डर प्रक्रिया के दौरान आवेदन करने वाले कमोबेश सभी लोग मौजूद थे। टेन्डर की प्रक्रिया शांतिपूर्ण वातावरण में हुई। सर्वाधिक बोली तोरवा शराब दुकान के लिए 70 लाख का लगाया गया। चुचुहियापारा दुकान के लिए 60 लाख की बोली लगी। इसके अलावा  व्यापार विहार का चखना दुकान 40 लाख रूपयों में बिका। लिंक रोड स्थित देशी मदिरा दुकान के लिए 20 लाख और विदेशी मदिरा दुकान के लिए 40 लाख रूपयों की बोली लगी।

 पुराना बस स्टैण्ड स्थित शराब दुकान के लिए 50 लाख और इसी तरह वसुन्धरा नगर शराब दुकान में 50 लाख रूपयों में साल भर दुकान लगाया जाएगा। मंगला ग्राम स्थित दुकान चखना दुकान 25 लाख रूपयों में टीपू को हासिल हुआ है।

                   

Back to top button
close