समय-सीमा की बैठक,कलेक्टर ने कहा-हाट-बाजार में लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण कर उनका इलाज करें,धान चबूतरा निर्माण 30 जून से पहले पूरा करें

नारायणपुर।कलेक्टर अभिजीत सिंह ने कहा कि वन अधिकार मान्यता पटटों के वितरण के कार्य में तेजी लायी जायें। सामुदायिक वनाधिकार के पटटों का वितरण की कार्रवाई ज्यादा से ज्यादा की जायें। यह काम प्राथमिकता के आधार पर किया जायें। चाहे व्यक्तिगत दावे के प्रकरण हो या सामुदायिक दावे का निराकरण तेजी से किया जाये। संबंधित विभागों के नोडल अधिकारी समन्वय से काम करें। वृक्षारोपण के लिये समय रहते सभी तैयारी पूरी कर ली जायें। समय सीमा में प्रकरणों का निराकरण करना सुनिश्चित करें। धान चबूतरा निर्माण 30 जून से पहले पूरा करने कहा। उक्त बातें कलेक्टर ने आज की समय-सीमा की आज बैठक में कही । कलेक्टर अभिजीत सिंह ने लोक सेवा गांरटी अधिनियम के प्रकरणों को समय-सीमा में निपटाने के भी निर्देश दिए। उन्होनंे कहा कि लोकसेवा गांरटी अधिनियम आम नागरिकों के हितों से सीधे जुड़ी सेवा है। सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

इन सेवाओं को उपलब्ध कराने के लिए एक निश्चित समय-सीमा भी निधारित है। कलेक्टर ने स्पष्ट तौर पर कहा कि समय सीमा में सेवाएं नहीं देने वाले या प्रकरण नहीं निपटाने वाले अधिकारियों के खिलाफ जुर्माना के साथ ही अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। अतः प्राप्त प्रकरणों का तय सीमा में निराकरण करें। कलेक्टर ने बुधवार 10 जून को मुख्यमंत्री द्वारा ली गई वीडियों कॉन्फ्रेसिंग में दिये गये निर्देशों की जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि लघु वनोपजों के उत्पादन की जानकारी संकलित की जायें। इससे नीति तैयार करने में मदद मिलेगी। लघु वनोपजों के अतिरिक्त दर के लिए पहल की जाये और ऐसे प्रयास किए जाये कि वनोपज के संग्रहण से संग्राहकों को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिले।

साथ ही जिले में तिलहन की फसल को प्रोत्साहित करें। उन्होनंे कहा कि जब स्कूल खुलें तो बच्चों के सिकलसेल की जांच की जायेे। स्कूलों की आवश्यक मरम्मत करनी हो वह कर ली जाये। कलेक्टर ने जिले में स्थापित इंग्लिश मीडियम स्कलों की स्थापना के संबंध में जानकारी ली और कहा कि अच्छे शिक्षक और सभी जरूरी व्यवस्था होनी चाहिए । उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को सड़क के पेच वर्क और पुल-पुलियों की जरूरी मरम्मत करने के भी निर्देश दियें। ताकि बारिश में आवागमन के दौरान किसी प्रकार की दिक्कत न हो।

उन्होंने कहा कि लोगों कोे बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। लोगों की सहुलियत को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक  योजना शुरू की गई है। कलेक्टर ने कहा कि जिले के प्रत्येक हाट बाजार में स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण कर उनका इलाज करें।  इसक काम में पूरी सर्तकता और सावधानी बरती जायें। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भीड़ भाड़ वाले कार्यक्रम न किए जाये और सार्वजनिक स्थानों पर मास्क और सोशल डिस्टेंिसंग का पालन किया जायें। श्री सिंह ने सभी सरकारी कार्यालयों में रेन वाटर हारवेस्ंिटग सिस्टम लागाने पर जोर दिया । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *