शासन से उपेक्षा ने नाराज..फेडरेशन नेताओं ने किया 6 नर्सों का सम्मान.. रविन्द्र ने कहा..जान जोखिम में रख कर रही सेवा

बिलासपुर—–कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग से सभी संवर्ग के कर्मचारी खुद को जोखिम में डालते हुए दिन रात मेहनत कर मरीजों को जिन्दगी दे रहे हैं। पिछले 6 महीने से बिना रुके और अवकाश लिए परिवार को छोड़कर अपने कर्तव्यों को अंजाम दे रहे हैं।
 
              स्वास्थ्य कर्मचारी नेता रविव्द्र तिवारी ने बताया कि कोरोना काल में स्वास्थ्य कर्मचारी लगातार अपनी जान जोखिम में रख देश की सेवा कर रहे हैं।कुछ कर्मचारी तो मृत्यु के मुंह में भी चले गए। बावजूद कर्मचारी घबराए बिना अपने कर्तव्य पथ पर डटे हैं। ऐसे योद्धा क्षतिपूर्ति भत्ता प्राप्त करने के  हकदार हैं। जिससे अनहोनी होने की स्थिति में स्वास्थ्य कर्मचारी का परिवार सुरक्षित रह सके। लेकिन शासन इन योद्धाओं को प्रदान किए जाने वाली सुविधाओं से पीछे हट रही है। जिससे कोविड-19 के योद्धाओं को सम्मान देने में भेदभाव कर आघात पहुंचा है।
 
              रविन्द्र तिवारी ने बताया कि विभाग में बैठे अधिकारियों को कोरोना योद्धाओं की स्थिति को लेकर थोड़ी भी फिक्र नहीं है। इतना ही नही महकमें का कोई भी बड़ा अधिकारी इन कोरोना वारियर्स के साथ दो मीठे बोल भी नहीं बोले हैं। सम्मान पाना तो दूर की बात है।
 
                          रविन्द्र तिवारी ने बताया कि इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए सोमवार को 
आज सभी संवर्ग के तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारिय़ों का सम्मान किया है। तिवारी ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मचारी फेडरेशन ने फैसला किया है कि सभी कर्मचारी जो कोविड-19 में सेवाएं दे रहे हैं सबका सम्मान किया जाएगा। जिसकी शुरुआत हमने आज से शुरू कर दिया है। आज हमने सिम्स के 6 नर्सों को सम्मानित  किया है। इनमें प्रमुख रूप से सुनैना सिंह, गीता पासवान, नीलिमा अग्निहोत्री , आराधना दास, सविता मनहरण और कविता घोष का नाम शामिल है।
 
              रविंद्र तिवारी ने बताया कि शीला बोगी नर्सिंग अधीक्षिका, विकास यादव संभागीय अध्यक्ष और प्रांतीय संयोजक एमएलटी प्रकोष्ठ,  अमरू साहू संभागीय संयोजक रेडियोग्राफर प्रकोष्ठ,  अनूप धुर्वे अध्यक्ष सिम्स शाखा ने सभी नर्सों को पुष्प कुछ के साथ प्रतीक चिन्ह भेंट कर योगदान को याद किया। साथ ही भविष्य में बेहतर काम करने की शुभकामनाएं द ीहै।
loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...