कलेक्टर के बाद विस उपाध्यक्ष को घेरा–

IMG-20151003-WA0003बिलासपुर— आज लखराम शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय की छात्र छाताएं शिक्षकों के साथ कलेक्टर कार्यालय के सामने उग्र प्रदर्शन किया। कलेक्टर से मिलने के बाद छत्तीसगढ़ भवन में विधानसभा उपाध्यक्ष बद्रीधर दीवान का भी घेराव किया। इस दौरान छात्र छात्राओं ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्य डॉ.प्रतिमा पर असामाजिक गतिविधियों और भारी अनियमितता का आरोप लगाया। भारी संख्या में एकत्रित छात्र छात्राओं और शिक्षकों ने तत्काल उन्हें तत्काल हटाने की मांग की है।

                             लखराम हायर सेकन्डरी के छात्र छात्राओं ने आज अपने प्राचार्य के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कलेक्टर से मांग की है कि वर्तमान प्राचार्य को तत्काल हटाया जाए। कलेक्टर कार्यालय का घेराव करते हुए विद्यार्थियों ने बताया कि ऐसे भ्रष्ट और गिरे हुए प्राचार्य की हमारे स्कूल में जरूरत नहीं है। आक्रोशित विद्यार्थियों और शिक्षकों ने बताया कि कि प्राचार्य डॉ.प्रतिमा मंडलोई ने असामाजिक तत्वों के साथ सांठगांठ कर छात्र छात्राओं और शिक्षकों को मारने पीटने और धमकाने का काम करती हैं।

               छात्राओं ने बताया कि एक बार किसी विवाद पर प्राचार्य ने गांव के ही अनुसूचित जाति के महिला पुरूषों को स्कूल के शिक्षक आर.के.वैसवाड़े और शिक्षिका डी.के.सन्नाट को मारने के लिए बुलाया लिया। बड़ी मुश्किल से मामला शांत हुआ। इस घटना के विरोध में  प्राचार्य को हटाने के लिए स्कूल का घेराव भी किया। बाद में उन्होंने बच्चों के साथ जमकर मारपीट की।

                     लखराम के ही एक शिक्षक ने बताया कि आनलाइन छात्रवृति के लिए प्राचार्य ने नवमी से लेकर बारहवीं के सभी विद्यार्थियों से एक सौ रूपए लिया। जबकि शासन से ऐसा कोई नियम नहीं है। बावजूद इसके प्राचार्य ने तीस हजार रूपए वसूला। जब कुछ लोगों ने इसका विरोध किया तो उन्हें ग्रामीणों से मरवाने और नौकरी से निकालने की धमकी दी।

IMG-20151003-WA0004                 छात्रों ने बताया कि लखराम विद्यालय के पास करीब साढ़े अठारह एकड़ जमीन है। स्थानीय लोगों ने अनुमति से करीब डेढ़ लाख से अधिक रूपयों का खरीफ उत्पादन किया। लेकिन रवी की फसल की अस्सी हजार रूपए उन्होंने गुपचुप तरीके से दबा लिया। इसकी जानकारी उन्होने ना तो ग्रामपंचायत को दी और ना ही स्कूल के शिक्षकों को ही दी।

                         शिक्षकों ने बताया कि प्राचार्या ने विज्ञान,क्रीड़ा,रेडक्रास,स्काउट गाइड,शाला विकास मद में भारी अनियमितिता की है। फंड से रकम काम के लिए निकाला गया लेकिन उन्होंने इसे अपने निजी उपयोग में किया।

                 छात्र छात्राओं और शिक्षकों ने कलेक्टर के बाद विधानसभा उपाध्यक्ष का घेराव करते हुए कहा कि यदि शाला की प्राचार्यो को नहीं हटाया गया तो वे स्कूल का वहिष्कार करेंगे। इसके बाद भी प्रशासन ने उनकी मांगों को ध्यान नहीं दिया तो स्कूल में ताला लगाकर उग्र आंदोलन भी करेंगे।

                     छात्राओं ने बताया कि प्रतिमा गुप्ता हमेशा धमकी देती हैं कि गांव के लड़कों से तुम लोगों को ना केवल पिटवाउंगी। बल्कि ऐसा करवाउंगी कि तुम लोग कहीं भी मुंह दिखाने के काबिल ना रहो। ऐसी सूरत में ऐसे स्कूल में पढ़ना हम लोगों के लिए मुश्किल है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...