एसडीएम कार्यालय के सामने आत्मदाह…युवक की हालत गंभीर

12/27/2001 11:38 PMबिलासपुर—बिल्हा एसडीएम कार्यालय के साIMG-20151026-WA0000मने एक युवक ने आत्मदाह कर लिया है। युवक का नाम राजेन्द्र तिवारी है। बताया जा रहा है कि वह कांग्रेस विधायक सियाराम कौशिक का प्रतिनिधि भी है। जानकारी के अनुसार राजेनद्र तिवारी पिछले कुछ दिनों से एसडीएम अर्जुन सिसोदिया से प्रताड़ित था। आज एक बार फिर वह जमानत के लिए मिला। अर्जुन सिंसोदिया के व्यवहार से तंग आकर उसने अग्निस्नान कर लिया। खबर लिखे जाने तक युवक की हालत काफी नाजुक बनी हुई है  । डॉक्टरों के अनुसार राजेन्द्र शरीर 94 प्रतिशत जल चुका है। सूचना मिलते ही पुलिस भी रिसर्च ट्राम सेंटर पहुंच राजेन्द्र तिवारी का बयान लिया है।

                    बिल्हा एसडीएम कार्यालय के सामने कांग्रेस नेता राजेन्द्र तिवारी ने आत्मदाह कर लिया है। राजेन्द्र तिवारी पर 107-16 का मामला दर्ज है। वह पिछले कुछ दिनों से जमानत के लिए अर्जुन सिसोदिया का चक्कर लगा रहा था। मीडिया को दिये बयान में राजेन्द्र तिवारी ने बताया कि एसडीएम उससे पैसे मांग रहे थे। आज भी उन्होंने ना केवल वैसा ही किया बल्कि अपने चैम्बर से अपमानित कर बाहर निकाल दिया। मारने पीटने की धमकी भी थी। राजेन्द्र ने बताया कि अर्जुन सिंसोदिया ने कहा कि बिना पैसे दिये जमानत नहीं मिलेगी। तंग आकर मैने खुद को आग के हवाले कर दिया।

              राजेन्द्र ने बताया कि इस दौरान अधिकारी ने धमकी भी दी कि कुछ भी कर लो लेकिन जमानत नहीं मिलेगी। पीड़ित ने बताया कि उससे जघन्य अपराधियों जैसा व्यवहार किया गया।

             मौके पर पहुंचे बिल्हा विधायक ने बताया कि राजेन्द्र तिवारी कांग्रेस का जुझारू कार्यकर्ता था। शासन के नुमाइंदे उसे लगातार प्रताडित कर रहे थे। उस पर जानबूझकर 107-16 का केश लगाया गया है। बावजूद इसके जमानत नहीं दिया जा रहा था। तंग आकर उसने अपने आपको आग के हवाले कर दिया। सियाराम ने बताया कि एसडीएम अर्जुन सिंसोदिया से परेशान होकर इसके पहले भी जेल में एक कैदी ने दम तोड़ दिया था। अर्जुन सिसोदिया की कारगुजारी से बिल्हा तहसील के नागरिक परेशान हैं। बिना घुस लिए किसी का काम नहीं करते हैं।

IMG_20151026_145545           बिल्हा विधायक ने बताया कि अर्जुन सिसोदिया ने बिल्हा में जंगलराज चला रखा है। भाजपा नेताओं के इशारे पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जानबूझकर छोटे-मोटे मामले दर्ज कर प्रताडित किया जाता है। इसी तरह ट्रैक्टर और ट्रक में आने वाले गौड़ खनिजों के लिए एसडीएम 25 हजार रूपए की मांग करते हैं। जो उनकी मांग को नहीं मानता है उसे जबरदस्ती झूठे मामले में फंसा दिया जाता है। कौशिक ने बताया कि खनिज विभाग में अर्जुन सिसोदिया और कुछ नेताओं के इशारे पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को परेशान किया जाता है। कौशिक ने बताया कि कांग्रेस पार्टी राजेन्द्र तिवारी की मौत और एसडीएम की तानाशाही के विरोध में बिल्हा में चक्काजाम करेगी। उन्होंने कहा कि हम कलेक्टर से अर्जुन सिसोदिया के खिलाफ अपराधिक मामला दर्ज किये जाने की मांग करेंगे।

                 राजेन्द्र तिवारी की घटना पर मरवाही विधायक अमित जोगी भी रिसर्ज ट्राम सेंटर पहुंचे और कांग्रेस कार्यकर्ता की नाजुक स्थित से रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रशासनिक तानाशाह चल रहा है। कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को चुन-चुन कर परेशान किया जा रहा है। उन्होंने तत्काल सिसोदिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज की मांग की है। अमित जोगी ने बताया कि अर्जुन सिसोदिया जहां भी रहे भाजपा नेताओं के इशारे पर काम किया। आम जनता और गरीबों से जबरदस्ती वसूली किया। बावजूद इसके उन्हें हर बार बजाया गया । लेकिन राजेन्द्र तिवारी की मौत का बदला लिया जाएगा। कांग्रेस नेता कलेक्टर से मिलकर एसडीएम के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करेंगे। उन्होंने बिल्हा बंद का भी एलान किया है।

              खबर लिखे जाने तक राजेन्द्र तिवारी की स्थित काफी नाजुक थी। उनका 94 प्रतिशत शरीर बुरी तरह से जल गया है। डाक्टरों और पीड़ित की मांग पर तारबाहर पुलिस और तहसीलदार ने अस्पताल पहुंचकर राजेन्द्र तिवारी का बयान लिया है। वहीं परिजनों का कहना है कि एसडीएम ने उनका जीना मुश्किल कर दिया है। जिससे तंग का आकर उनका बेटा आत्मदाह जैसा कदम उठाया है।

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...