नौकरी का झांसा देकर लाखों रूपये की ठग के आरोपी गिरफ्तार..इन्दौर में पकड़ाए नटवरलाल ..अब दुर्ग-रायपुर पुलिस भी करेगी पूछताछ

तखतपुर—( टेकचंद कारड़ा)— धोखाधड़ी कर लाखों रूपये पार करने वाले शातिरों को जरहागांव पुलिस ने इन्दौर से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए सभी शातिरों के खिलाफ मुंगेली समेत दुर्ग और रायपुर में भी अपराध दर्ज है।
 
              पुलिस कप्तान मुगेली अरविंद कुजूर के निर्देश में पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई कर थाना जरहागांव में दर्ज धोखाधड़ी के आरोप में फरार आरोपियों को इन्दौर गिरफ्तार किया है। थाना जरहागांव पुलिस ने प्रार्थी पीयूष तिवारी निवासी रायपुर ने आरोपियों के खिलाफ शिकायत की थी। शिकायत में प्रार्थी ने बताया कि प्रियंका लहरे , शशि लहरे , शैलेन्द्र लहरे निवासी खम्हरिया मुंगेली और  अतुल राठौर निवासी इन्दौर मध्यप्रदेश के साथ मिलकर धोखाधड़ी को अंजाम दिया है। आरोपियों ने तीन लाख रूपये लिए हैं।
  
                पीयूष ने अपनी शिकायत में यह भी बताया कि प्रियंका लहरे ससुराल वालों को खुश करने के लिए पहचान की दुकान से उधारी में फर्नीचर समेत कीमती सामान की खरीदी की। बाद में आरोपियों ने उधारी देने से इंकार किया। जरहागांव पुलिस ने पीयूष की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए  आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की  धारा 420 , 120 बी के तहत अपराध दर्ज कर 6 जनवरी को विवेचना में लिया। 
 
                  इसी तरह आरोपियों के खिलाफ एक अन्य मामले में अभिषेक गाजलवार ने  27 फरवरी 2021 को लिखित रिपोर्ट दर्ज कराया। प्रार्थी ने बताया कि प्रियंका लहरे , नितेश लहरे निवासी  खम्हरिया जिला मुंगेली और अतुल राठौर  निवासी इंदौर ने मिलकर वन विभाग में वनरक्षक के पद पर नौकरी लगाने का झांसा दिया। आरोपियों ने 1 लाख 20 हजार रूपए लेकर दक्षिण सरगुजा अंबिकापुर का कूटरचित नियुक्ति पत्र थमा दिया। जरहागांव पुलिस ने अभिषेक की शिकायत को भी गंभीरता से लिया। सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 , 120 बी , 467 , 468  का अपराध पंजीबद्ध किया।
 
                 जरहागांव पुलिस ने धोखाधड़ी के दोनों मामलों में आरोपियों की पतासाजी शुरू की। इस बीच आरोपी फरार होने में कामयाब रहे। तकनीकी सहायता और मुखबीर की सूचना पर थाना प्रभारी जरहागांव उप निरीक्षक  राजकुमार साहू के नेतृत्व में आरोपियों को पकड़ने पुलिस ने टीम का गठन किया। टीम ने आरोपियों के छिपे संभावित ठिकानों पर दबिश दी। लेकिन हर बार आरोपी बचने में कामयाब रहे। 
 
             टीम ने मध्यप्रदेश के इन्दौर में धावा बोलकर अभिषेक राठौर को धर दबोचा। पुछताछ में अभिषेक राठौर ने आरोपियों की मदद करने की बात को कबूल किया। पुलिस ने अभिषेक राठौर की निशानदेही पर इन्दौरा में ही छिपे प्रियंका लहरे पति अतुल राठौर , शैलेन्द्र लहरे पिता स्व  हीराराम लहरे , नितेश लहरे पिता स्व  हीराराम लहरे और शशि लहरे पति स्व हीराराम लहरे को धर दबोचा।
 
           जरहागांव पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपियों में कई के खिलाफ रायपुर और  दुर्ग के विभिन्न थानों धोखाधड़ी संबधी अपराध दर्ज है। जल्द ही आरोपियों से दुर्ग और रायपुर पुलिस पूछताछ कर सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *