भीषण हादसा..बस पलटने से 3 दर्जन से अधिक लोग घायल..5 मौत की पुष्टी…यात्रियों ने कहा…नशे में था ड्रायवर

IMG-20171126-WA0005    बिलासपुर— आज तड़के करीब पांच बजे केन्दा के पास बंजारी घाट में प्रयाग की राजधानी बस पलटने से करीब आठ लोगों की मौत हुई है। पुलिस ने अभी तक पांच लोगों की मौत की पुष्टी की है। बस हादसे में करीब तीन दर्जन लोगों को गंभीर और सामान्य चोट पहुंची है। बस पलटने के करीब दो घंटे बाद खबर मिलते ही एम्बुलेस की टीम मौके पर पहुंची। घायलों को कोटा,गौरेला,रतनपुर स्वास्थ्य केन्द्र में प्राथमिक उपचार के लिए भेजा। बाद में सभी गंभीर रूप से घायल यात्रियों को सिम्स रेफर कर दिया गया। यात्रियों ने बताया कि घटना के करीब चार पांच घंटे पहले ड्रायवर,कंडक्टर और खलासी ने एक ढाबे में खाना खाया। इसी दौरान तीनों ने शराब भी पिया था।

                                  बंजारी घाट केन्दा के पास प्रयाग की राजधानी बस पलटने से आठ लोगों की मौत हो गयी है। पुलिस ने पांच लोगों की मौत की पुष्टी की है। हादसे के बाद सहयोग के लिए पहुंची स्वास्थ्य और पुलिस की टीम ने सभी घायलों को प्राथमिक उपचार के लिए कोटा,गौरेला,पेन्ड्रा और रतनपुर में भर्ती कराया। प्राथमिक उपचार के बाद सभी घायलों को इलाज के लिए सिम्स रिफर किया गया। IMG-20171126-WA0031

                सिम्स में उपचार करा रहे घायल बस यात्रियों ने बताया कि हादसे के करीब चार पांच घंटे पहले एक ढाबे में बस चालक,कंडक्टर और खलासी ने खाना खाया। इस दौरान तीनों ने मिलकर शराब का सेवन किया। ढाबे से रवाना होने के बाद चालक ने बस चलाना तेज कर दिया। कई बार यात्रियों ने बस धीरे चलाने को कहा। लेकिन ड्रायवर ने सबको डांटकर बैठा दिया।

                         सिम्स में भर्ती घायल यात्री शत्रुघ्न और धानेश्वर ने बताया कि बस की गति तेज थी। यात्री लोग सीट से उछल रहे थे। बावजूद इसके बस की गति को कम नहीं किया गया। कई बार शिकायत हुई लेकिन ड्रायवर ने सबको डांटकर बैठा दिया। जंगल में एक जगह बस ड्रायवर ने स्टेयरिंग से नियंत्रण खो दिया। बस खाई में गिर गयी। दो बार पलटने के बाद बस पेड़ से टकराई। इसके बाद एक बार फिर बस पलटकर सड़क पर आ गयी। यात्रियों ने बताया कि इस बीच कुछ समझ में नहीं आया कि क्या हो रहा है। किसी तरह कांच तोड़कर बस से बाहर निकले। यात्रियों ने मिलकर एक दूसरे को बस से बाहर निकाला। इस बीच बस ड्रायवर और कंडक्टर फरार हो चुके थे। बाद में पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंच गयी। सभी को अस्पताल भेजा गया।

सिम्स में चल रहा इलाज

                IMG-20171126-WA0030             सिम्स प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार गौरेला,कोटा और रतनपुर से करीब 35 मरीजों को सिम्स में भेजा गया। अभी तक 26 मरीजों भर्ती किया गया है।घायल मरीजों का नाम धनंजय पिता सुल्तान,भागदेव पिता तुलाराम,संजय पिता टीकेश्वर,रूखमिन बाई पति गोपाल,राजकुमार पिता आत्माराम,सुखदेव पिता मारकन्डे,गोपाल पिता धारनी सिंह,सुखवंती पिता राजू सिंह,राजू पिता सेतराम,बैजामति पति श्यामलाल, कमला पत्नी  गोविद, रविशंकर पिता जोधराम महिपाल,गोविंद पिता सुखीलाल आदित्य पिता गोविंंद,शत्रुघ्न पिता मनी यादव,धामेश्वर पिता खोन्जूरा,विशाल पिता प्रमोद, वैष्णवी पिता कटलू,सुख्तीमुखी पिता आसलू,विकास पिता टिकेश्वर कोलकान्हा पिता जुबीराज,राकेश पिता सुरज है। इसके अलावा अन्य मरीजों के भी नाम है। घायल यात्रियों में उड़ीसा के अलावा छत्तीसगढ में रायगढ़,जांजगीर,कोरबा,बिलासपुर,मुंगेली के रहने वाले हैं।

पांच लोगो की मौत की पुष्टि

             जानकारी मिली है कि हादसे में करीब 8 लोगों की मौत हुई है। पुलिस ने अभी तक केवल पांच लोगों की मौत की पुष्टी की है। मृतकों के नाम प्रमोद कुमार उम्र 40 साल,रेवती बाई उम्र 35 ,आरती उम्र 20 साल है। तीनों ब्रजराजनगर के रहने वाले हैं। अन्य दो मृतकों के नाम तखतपुर खरमोड़ा निवासी सुरेश कुमार और रायगढ़ का रहने वाला सेवक राम है।

धनंजय की हालत गंभीर

             बस हादसे में घायलों की उम्र चार साल से 60 साल के कई लोग हैं। हादसे में तुरकेला खरसिया निवासी धनजंय पिता सुल्तान की हालत नाजुक है। धनंजय की उम्र पांच साल है। उसका इलाज सिम्स के गहन चिकित्सा कक्ष में चल रहा है। इसके अलावा गोपाल पिता धरनी सिंह को भी आईसीयू में भर्ती किया गया है। गोपाल की उम्र 50 साल है। विजयनगर उडीसा का रहने वाला है।

इलाज के दौरान लोग फरार

                सिम्स प्रबंधन ने बताया कि इलाज के दौरान दो लोग अस्पातल से भाग गए हैं। भागने वालों का नाम सुखवंती पति राजू सिंह और राजू पिता सेतराम है। दोनों की उम्र 30 और 45 साल है। दोनों कोड़ापाली उडीसा के रहने वाले हैं।

बस ड्रायवर और कंडक्टर फरार

                   घटना के कुछ घंटे पहले बस ड्रायवर और कंंडक्टर ने एक ढाबें में खाना खाया। इसके बाद शराब का भी सेवन किया। हादसे के बाद दोनों फरार हैं। जानकारी के अनुसार बस ड्रायवर का नाम रमजान खान और कंडक्टर का नाम विनोद द्विवेदी है। बस का नम्बर CG-10-G-1254 है। हादसे के बाद बस पुरी तरह से कंडम हो चुकी है। बस को गैस कटर से काटकर यात्रियों को बाहर निकाला गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *