CG-आदिम जाति कल्याण विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर पर एफआईआर,ACB ने दर्ज किया केस

बिलासपुर।एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने आदिम जाति कल्याण विभाग बिलासपुर में सहायक आयुक्त सीएल जायसवाल(CL Jaiswal) के खिलाफ FIR दर्ज की है।बता दे कि एक दिन पहले ही ACB ने बिलासपुर(Bilaspur) में जिला शिक्षा अधिकारी रहे और समग्र शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरेक्टर आरएन हीराधर(RN Hiradhar) के खिलाफ मामला दर्ज किया था। ACB ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 की धारा 13 (1) बी, 13(2) के तहत जायसवाल के खिलाफ केस दर्ज किया है।मीडिया रिपोर्ट अनुसार ACB के पास सहायक आयुक्त जायसवाल के खिलाफ पुख्ता सबूतों के साथ शिकायत की गई थी। आरोप लगाया गया कि अलग-अलग जिलों में पोस्टिंग के दौरान बेहिसाब संपत्ति जुटाई है। शिकायत में बताया गया कि कोरबा जिले के अपने पैतृक गांव गुरसिया में उन्होंने 23 प्लॉट खरीदे हैं। साथ ही सोनगंगा कॉलोनी में पिता के नाम से 3 हजार स्क्वॉयर फीट की जमीन पर 2 मंजिला बंगला होने की जानकारी भी दी गई। फर्जी तरीके से 8 शिक्षाकर्मियों की भर्ती मामले में पहले ही जायसवाल के खिलाफ चार्जशीट पेश की जा चुकी है।

श्री जायसवाल के नाम पर कोरबा जिले के गुरसिया गांव में 23 प्लॉट और एक मकान है। वहीं उनकी पत्नी अनीता जायसवाल के नाम पर बिलासपुर में 5 एकड़ का फार्महाउस है। पिता देवी प्रसाद जायसवाल के नाम पर शहर की पॉश कॉलोनियों में शामिल सोन गंगा कॉलोनी में 3 हजार स्क्वॉयर फीट में बना दो मंजिला बंगला है। चांटीडीह में खुद के नाम पर 2500 स्क्वॉयर फीट और सिर्गिट्टी में 1 हजार स्क्वॉयर फीट जमीन है।

रामानुजगंज में पोस्टिंग के दौरान जायसवाल के खिलाफ 8 शिक्षाकर्मियों की फर्जी तरीके से भर्ती करने की शिकायत की गई थी। मामले में जांच के बाद ACB ने जायसवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत FIR दर्ज किया था। इस मामले में साल 2018 में रामानुजगंज में चालान पेश हो चुका है। अभी मामले में ट्रायल जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *