इंडिया वाल

Coronavirus: क्या COVID पर डेटा छिपा रहा चीन? कोरोना के नए वेरिएंट के मामले तेजी से बढ़ने पर WHO ने चिंता जताते हुए किया आगाह

Coronavirus in China: चीन में कोरोना के नए वेरिएंट से दहशत का माहौल है. अस्पतालों की व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना के तेजी से फैलते मामलों को लेकर चीन की ओर से जारी अपर्याप्त डेटा पर चिंता जताई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को कहा कि चीन (China) ने जो डेटा जारी किया हैं, उससे पता जलता है कि ओमिक्रोन के सब वेरिएंट्स BA.5.2 और BF.7 से अधिक लोग संक्रमण का शिकार हो रहे हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि चीन में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के करीब 97 फीसदी मामलों के लिए ओमिक्रोन के सब वेरिएंट्स BA.5.2 और BF.7 जिम्मेदार हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा कि चीन ने जो कोविड को लेकर डेटा जारी किया है वो जीनोम सिक्वेसिंग के विश्लेषण पर आधारित था. डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 की उत्पत्ति और संबंधित म्यूटेशन या वेरिएंट को समझने के लिए अतिरिक्त विश्लेषण के साथ-साथ सीक्वेंस डेटा को साझा करने की जरूरत और महत्व को दोहराया है.

WHO के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने कहा कि एजेंसी ने हाल ही में चीनी अधिकारियों के साथ मुलाकात की ताकि अस्पताल में भर्ती होने की दर और जेनेटिक सीक्वेंस सहित कोविड-19 के मुद्दों के बारे में अधिक जानकारी साझा की जा सके.

WHO ने अतिरिक्त डेटा पर दिया जोर

टेड्रोस ने एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा, “कोविड से संबंधित डेटा वैश्विक स्थिति और मजबूत जोखिम को लेकर आकलन करने के लिए डब्ल्यूएचओ के लिए जरुरी है.” टेड्रोस ने कहा कि वह समझते हैं कि क्यों कई देशों ने हाल ही में चीन से आने वाले यात्रियों को लेकर कदम उठाए हैं. डब्ल्यूएचओ आपातकालीन प्रमुख डॉ. माइकल रेयान ने कहा कि कुछ देशों की ओर से लागू किए गए कोविड प्रोटोकॉल यात्रा के खिलाफ प्रतिबंध नहीं थे. इसे संक्रमण रोकने के लिए कोई बड़ा उपाय नहीं कहा जा सकता है.

ब्रेकिंग-CBSE बोर्ड परीक्षा की तारीखों का एलान,यहाँ जानिए इस तारीख से शुरू होगी दसवी बारहवी की बोर्ड परीक्षा

चीन में तेजी से फैल रहा संक्रमण

WHO के इमरजेंसी प्रमुख डॉ. माइकल रेयान ने आगे कहा कि पिछले तीन वर्षों से चीन में कोविड-19 के संबंध में सख्त पाबंदियां लगाई गईं लेकिन परिणाम कुछ अलग हैं. उन्होंने कहा कि चीन के लिए वास्तविकता यह है कि जोखिम मूल्यांकन को आधार बनाने के लिए पर्याप्त जानकारी नहीं है. रेयान ने कहा कि चीनी अधिकारी कोरोनो वायरस मौतों को कैसे दर्ज कर रहे हैं, इस बारे में लगातार चिंताएं हैं. अमेरिका समेत अब तक 29 देशों में कोरोना के नए वेरिएंट के मामले आ चुके हैं और दूसरे देशों में भी फैलने की आशंका है.

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS