मेरा बिलासपुर

कांग्रेस नेता का एलान..अब जनता के साथ बहुत हुआ भद्दा मजाक..भाजपा फोटो नेता के बंगले का करेंगे जंगी घेराव..

बिलासपुर–रेल प्रशासन की तुलगकी नीति और जनता की परेशानियों के मद्देनजर कांग्रेस नेताओं ने सांसद अरूण साव के सरकारी आवास का घेराव का एलान किया है। विजय केशरवानी ने बताया कि छ्त्तीसगढ़ की जनता के साथ रेल सुविधाओं केे मद्देनजर भद्दा मजाक और अधिक बर्दास्त नहीं किया जाएगा। हमेशा रेल मंत्री के साथ फोटो खिचाने वाले सांसद अरूम साव को अब जवाब देना ही होगा। 2 सितंबर को सांसद अरूण के सरकारी बंगले का घेराव कर जनता का जवाब मांगा जाएगा। विजय ने कहा कि यह कैसा विकास, कोयला का अंधाधुंद दोहन कर गाड़ियों को तो दौड़ाया जा रहा है। लेकिन यात्री गाड़ियों के नाम पटरी खराब हो जाती है। 
 
               जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने बताया कि देश में  रेल मंत्रालय और बिलासपुर रेलवे जोन की जनविरोधी नितियों से जनता में आक्रोश अब चरम पर है। रेल प्रशासन और केन्द्र सरकार की तानाशाही अब बर्दास्त के बाहर है। रेल मंत्रालय ने यात्रियों के सुविधाओ की अनदेखी करते हुएं पहले से ही कई यात्री ट्रेनों का संचालन बंद किया है। एक बार फिर जनविरोधी नीतियों का प्रदर्शन करते हुए छत्तीसगढ़ में चलने वाले 68 ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया  गया है ।
 
              केशरवानी ने बताया कि ट्रेनों के संचालन बंद होने से आम नागरिकों को भारी असुविधाओ का सामना करना पड़ रहा है। ना केवल जिला बल्कि प्रदेश की जनता आर पार के मूड़ में है। रेल मंत्रालय. और बिलासपुर जोन के तानाशाही रवैए के विरोध में सांसद  अरुण साव के निवास का घेराव किया जाएगा। 2 सितम्बर को उग्र प्रदर्शन कर तुगलकी फरमान का कड़ा विरोध किया जाएगा।
 
                         केशरवानी ने बताया कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन ने 15 अगस्त 2022 को मालगाड़ियों के 296 वैगन, 6 इंजन और रैक जोड़कर 3.50 किलोमीटर लंबी 25962 टन वजनी मालगाड़ी चलाकर कोयला लदान का कीर्तिमान गढ़ा। जिसका नाम सुपर वासुकी रखा गया।  विजय ने कोयला लदान के कीर्तिमान पर केन्द्रीय रेलमंत्री और बिलासपुर के सांसद  को आड़े  हाथो लिया। बताया कि जहां एक तरफ कोयला लदान का कीर्तिमान गढ़ा जा रहा है । तो दूसरी तरफ यात्रियों के लिए सुविधाओं की कटौती हो रही है।
 
              रेलवे ने 6 मालगाड़ियों को जोड़कर चलाने का प्रयोग तो किया लेकिन राजनांदगांव में अभियान को गहरा झटका लगा। फिर अलग-अलग ट्रेन बनाकर नागपुर के लिए कोयाला रवाना किया गया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि  बिलासपुर ही नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ और इससे लगी सीमाओं पर भी यात्री ट्रेनों को रद्द कर जनता को परेशान किया जा रहा है।
 
             बिलासपुर  जिले से चलने वाली यात्री ट्रेनों को कोरोना संक्रमण काल के दौरान बंद किया गया। इसके बाद इन ट्रेनों को पूरी रह से चालू नहीं किया जा रहा है। कोई न कोई कारण बताकर यात्री सुविधाओं को कम किया जा रहा है। जबकि मालगाड़ियों को पार कराने के लिए यात्री गाड़ियों को आउटर पर रोककर परेशानी बढ़ाई जा रही है। बि
 
               लासपुर और छत्तीसगढ़ के यात्रियों के साथ भद्दा मजाक किया जा रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष सवाल किया है कि जब रेल मंत्री और उनका मंत्रालय तथा रेलवे जोन के शीर्ष अधिकारी लगातार मेन्टेनेंस की बात करते है तब ऐसे में रेल हादसे क्यों हो रहे हैं? यात्री सुविधाओं में कमी की जा कर कोयला संकट की बात कहते हुए कोयला की ढुलाई दर ढुलाई कर आखिर कौन सा रहस्य रेल मंत्री छुपाना चाहते हैं? कहीं कोयला ढुलाई के नाम पर घोटाला रचने का खेल तो नहीं खेला जा रहा या फिर जनता के साथ रेलवे और उनका मंत्रालय बार-बार छल करने पर तत्पर है।

किसानों के हक के लिए महासमुंद से पैदल निकली किसान संगठन की रैली बिलासपुर पहुंची,जोगी कांग्रेस ने किया स्वागत
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS