3 महीने 11 दिन बाद आया फैसला..आरोपी को 5 साल की जेल..नाबालिग से भारी पड़ा छेड़छाड़

रामानुजगंज(पृथ्वीलाल केशरी) न्यायालय ने 3 महीने 11 दिन की सुनवाई के बाद 11 साल की नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को पांच साल की सजा का ऐलान किया है। कोर्ट ने आरोपी को दस हजार पांच सौ रूपए का अर्थदण्ड भी लगाया है।
 
           रामानुजगंज अपर जिला एवं सत्र न्यायालय फास्ट ट्रैक विशेष न्यायालय ने पाक्सो एक्ट के आरोपी के खिलाफ सजा मुकर्रर किया है। न्यायधीश वंदना दीपक देवांगन ने 11 वर्षीय नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी अयूब खलीफा को पांच साल 6 महीने की सजा का एलान किया है। कोर्ट ने आरोपी पर दस हजार पांच सौ रूपए का अर्थदण्ड भी लगाया है। फैसला 3 महीने 11 दिन की सुनवाई के बाद सामने आया है।
 
              जानकारी देते चलें कि आरोपी अयूब खलीफा वार्ड नम्बर 1 रामानुजगंज का रहने वाला है। दर्जी का काम करता है। 6 अक्टूबर की शाम नाबालिग पीड़िता अपनी मां और बुआ के कपड़े लेने अयूब खलीफा के दुकान गयी थी। इस दौरान नाबालिग बच्ची को अकेला पाकर आरोपी ने दुकान में पीड़िता के साथ छेड़छाड़ किया। अश्लील हरकतें भी की। 
 
            पीड़िता रोते हुए घर पहुंची। घरवालों को अयूब खलीफा की सारी हरकतों के बारे में बताया। पीड़िता के पिता की शिकायत पर पुलिस ने अपराध दर्ज किया। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। घटना के बाद समाज ने आरोपी को समाज से बेदखल भी कर दिया। 
 
            मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हुई। अपर सत्र न्यायाधीश वंदना दीपक देवांगन ने मामले कि गंभीरता को देखते हुए दोनों पक्षों की दलीलों को सुना। 3 महीने 11 दिनों के भीतर आरोपी अयूब खलीफा को पाक्सो एक्ट के तहत 5 साल 6 महीने की सजा का एलान किया। साथ ही आईपीसी की धारा 341 के अर्थदण्ड भी लगाया।
 
 
 
 
प्रेस विज्ञप्ति
आज दिनाँक 19 जनवरी बुधवार को एनएसयूआई कार्य. जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह के मार्गदर्शन में जिला महासचिव रंजेश सिंह के नेतृत्व में अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. सुधीर शर्मा को नियमित एवं स्वाध्यायी परीक्षार्थियों हेतु परीक्षा फार्म भरने की तिथी में वृद्धि हेतु गुलाब के फूल के साथ विनम्रतापूर्वक ज्ञापन सौंपा गया।
जिला महासचिव रंजेश सिंह ने बताया कि अटल विश्वविद्यालय में विलंब शुल्क के साथ ऑनलाइन नियमित एवं स्वाध्यायी परीक्षा फार्म भरने की तिथि 14 जनवरी को समाप्त हो गयी है परंतु अभी भी सैकड़ों छात्र छात्राएं परीक्षाएं फार्म नहीं भर पाए हैं जो हमे लगातार संपर्क कर रहे हैं कि बहुत से विद्यार्थी एवं उनके परिवार के सदस्य कोरोना महामारी के चपेट में आने एवं इससे आर्थिक समस्या से भी जूझ रहे हैं,जिसके कारण वह परीक्षा फार्म भरने से चूक गए हैं साथ ही अधिकांश महाविद्यालयों में स्वाध्यायी परीक्षार्थियों हेतु सैकड़ों सीटें रिक्त हैं उसके बावजूद महाविद्यालय चाहते हुए भी परीक्षा फार्म नही भरवा पा रहे हैं,यदि ऐसी परिस्थितियों में भी विद्यार्थियों के लिए परीक्षा तिथि बढ़ाई नही जाती तो विद्यार्थियों के साथ अन्याय होगा और उनके पढ़ाई के साथ साथ भविष्य खराब होने की स्थिति बन जायेगी इसीलिए आज हम एनएसयूआई के कार्यकर्ता कुलसचिव सुधीर शर्मा को लाल गुलाब का फुल देकर परीक्षा फार्म की तिथि में वृद्धि करने हेतु निवेदन किया,कुलसचिव डॉ.सुधीर शर्मा ने आश्वासन देते हुए कहा कि इस विषय पर परीक्षा विभाग से चर्चा कर जल्द से जल्द छात्रहित में निर्णय लिया जायेगा तभी रंजेश सिंह ने कहा कि यदि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा छात्रहित में निर्णय लेकर परीक्षा फार्म भरने की तिथि में वृध्दि नही किया जाता तो एनएसयूआई उन तमाम छात्र छात्राएं जो परीक्षा फार्म नही भर पाए हैं उनके साथ डटकर खड़े रहकर आंदोलन का रास्ता अपनाएगी।
                    ज्ञापन सौपते हुए जिलामहासचिव रंजेश सिंह, अंकित सोनी , करन यादव, देवाशीस ठाकुर,विकास सिंह,विवेक सिंह,राजेंद्र पाली,वैभव शर्मा,मयंक कौशिक,बिट्टू सूर्यवंशी, विक्की बनर्जी आदि छात्राएं उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *