पूर्व मंत्री अमर ने कहा…निजी बस संचालकों को फायदा पहुंचाने..सिटी बस दिया कबाड़..,जमीन माफियों ने बनाया विकास को बंधक

Join WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बिलासपुर—भाजपा नेता पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने पुराना बस स्टैण्ड स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौक के सामने समर्थकों और पार्टी नेताओं के साथ एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। अमर अग्रवाल ने इस दौरान प्रदेश और निकाय सरकार समेत स्थानीय विधायक पर जनकर निशाना साधा  उन्होने दुहराया कि प्रदेश सरकार जीतने वाली नहीं बल्कि जनता की नजर में भरोसा लूटने वाली सरकार है। 

 जानकारी देते कि विभिन्न समस्याओं को लेकर पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल शहर के अलग अलग ठिकानों पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान शहर की समस्याओं को लेकर प्रदेश, निकाय सरकार समेत स्थानीय नेता और विधायक को जमकर आड़े हाथ ले रहे हैं। इसी क्रम में अमर अग्रवाल की अगुवाई में पार्टी के नेताओं ने प्रगति मैदान, खेल परिसर के बाद 27 मार्च को पुराना बस स्टैण्ड में धरना प्रदर्शन किया। साथ ही शहरवासियों समेत उपस्थित लोगों को संबोधित भी किया।

अमर अग्रवाल ने धरना प्रदर्शन के दौरान स्मार्ट सिटी और सिटी बस का मुद्दा उछाला। उन्होने कहा कि शहर के विकास की अधूरी परियोजनाओं को शहर की जनता दम तोड़ते देख रही है। अक्टूबर 2015 से सिटी बस सेवा की स्थिति बदहाल हो चुकी है। स्मार्ट सिटी बिलासपुर में कांग्रेस शासन में अरबों रुपए की विकास कार्यो की दुर्दशा आज किसी से छिपी नहीं है।

 भाजपा की रमन सरकार ने साइंस कॉलेज मेैदान को दिल्ली के प्रगति मैदान की तर्ज पर विकसित करने का बीड़ा उठाया। मल्टीपल स्पोर्ट्स एक्टिविटी खेल खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के लिए जिला खेल परिसर बनवाया। लेकिन कांग्रेस राज में दोनो की स्थिति बद बदतर हो गयी है। प्रगति विहार का कार्य आज भी अधूरा है। सुचारू यातायात और परिवहन सुविधा को ध्यान में रखकर अक्टूबर 2015 में शहर से 40 किलोमीटर की दूरी तक चारों दिशाओं में सिटी बस का संचालन शुरू किया गया। बिलासपुर में अत्याधुनिक सुविधाओं वाली 50 की संख्या में सात सर्किलों में लोगों के लिए सस्ते दर पर बसों को दौड़ाया गया। महामारी के समय लाक डाउन के बाद सिटी बस की सुविधा सरकार छीन लिया है। नोडल एजेंसी निगम प्रशासन की लापरवाही से करोड़ों रुपए की बसें कबाड़ हो चुकी हैं।

अरूण साव ने सांसद निधि से दिया 1 करोड़..1 माह का वेतन दान..अब तक डेढ़ करोड़ का एलान..सांसद ने कहा..देश जीतेगा कोरोना से जंग
READ

अमर ने कहा कि 40 नान एसी और दस एसी सर्वसुविधायुक्त बसों की सुविधा शहर के नागरिकों को दिया गया। बस संचालन के लिए नगर निगम को नोडल एजेंसी बनाया गया। सेवा शुरू करते समय निजी वाहन चालकों ने विरोध किया। बावजूद इसके भारजा सरकार ने जनता के हित में बिना किसी समझौते और दबाम में रेलवे स्टेशन से रतनपुर ,खुटाघाट, सेंदरी मानसिक चिकित्सालय, तखतपुर, कोटा, मस्तूरी मल्हार रूटों पर बस का सफल संचालन किया। कोविड-19 महामारी के दौरान बंद हुई सिटी बस सेवा आज तक बहाल नही हो सकी है। जिसके चलते आमजन को ना केवल भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बल्कि भारी आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। सच तो यह है कि सिटी बस सेवा बन्द कर निजी वाहन संचालकों को लाभ पहुंचाया जा रहा है।

पूर्व मंत्री ने दुहराया कि जब से कांग्रेस की सरकार बनी है। पूर्व संचालित विकास परियोजनाएं ठप हो गयी हैं। कल तक विकास ढूंठने वाले आज विकास को अपने घर में बन्दी बना लिया है। जनता के अधिकार को कांग्रेस सरकार ने छीन लिया है। लेकिन भाजपा कार्यकर्ता जनता के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। सदन से सड़क तक जन जागरण अभियान चलाकर जनता की लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाया जाएगा।

अमर ने चुटकी लेते हुे कहा कि पिछले दिनों विख्यात नाटू नाटू गाने को आस्कर मिला है।  अगर जमीन हड़पने माफिया राज को पनाह देने वाले शहरों को कुख्याति का अवार्ड मिला तो कांग्रेस राज में छत्तीसगढ़ का बिलासपुर सबसे आगे होगा।

अमर अग्रवाल ने धरना के दौरान बताया कि  बस स्टैंड क्षेत्र के व्यापारियों ने मिलकर अपनी पीड़ा को जाहिर किया है। शहर के बीच हृदय स्थल में स्थित स्वास्थ्य सेवाओं के लिए आरक्षित करोड़ों की बेशकीमती जमीन पर कांग्रेस कार्यालय बनाकर कब्जा किया जा रहा है। उन्होने कहा वैसे तो हर दल को जमीन मिलती है। लेकिन पुराना बस स्टैण्ड स्थित जमीन को नियम कानून को ताक पर रखकर हड़पा जा रहा है। हम इसका पुरजोर विरोध  कर रहे हैं। और करते रहेंगे। चाहे बड़े से बड़े कोर्ट तक क्यों ना जाना पड़े।

सभी ब्लाकों में कांग्रेसियों का धरना...अटल समेत नेताओं ने साधा मोदी सरकार पर निशाना..कहा चौपट हो गयी अर्थव्यवस्था
READ