स्वास्थ्य मंत्री ने किया सिम्स का ईलाज….श्याम बिहारी ने बताया…प्रशासन और चिकित्सा दोनो होंगे अलग…अस्पताल को करेंगे शिफ्ट

BHASKAR MISHRA

बिलासपुर— प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल पदभार लेने के बाद पहली बार बिलासपुर प्रवास पर पहुंचै। स्वास्थ्य मंत्री ने सिम्स का भ्रमण किया। मरीजों से बातचीत कर सिम्स प्रशासन और चिकित्सकों के साथ संवाद किया। घंटों बैठक के दौरान सिम्स की हालात सुधारने को लेकर सुझाव भी मांगा। उन्होने पत्रकारों को बताया कि हमने सिम्स का इलाज ढूंठ लिया है। अब अस्पताल प्रशासक और चिकित्सा दोनो अलग होंगे। जनसम्पर्क अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी।साथ ही जल्द से जल्द सिम्स को कोनी स्थानांतरिक किया जाएगा। मंत्री ने शिफ्टिंग की प्रक्रिया भी शुरू करने का निर्देश दिया। उन्होने बताया कि मार्च के प्रथम सप्ताह तक सुपर स्पेश्यालिटी अस्पताल शुरू हो जाएगा।

बिलासपुर पहुंचते ही मंत्री ने किया सिम्स का ईलाज

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल पदभार लेने के बाद पहली बार बिलासपुर पहुंचे। सिम्स का भ्रमण किया और प्रबंधन के साथ बैठक कर सिम्स की बीमारी और उसके इलाज का सुझाव मांगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सिम्स की व्यवस्था में सुधार के लिए मरीजों के इलाज  और प्रशासनिक व्यवस्था दोनों को अलग-अलग किया जाएगा। अस्पताल प्रशासन के लिए एमबीए उत्तीर्ण प्रशासक और एक जनसम्पर्क अधिकारी नियुक्त किया जाएगा।

सिम्स को किया जाएगा कोनी में शिफ्ट

जायसवाल ने सिम्स अधिकारियों की बैठक लेकर बताया कि शहर के बीचों-बीच स्थित सिम्स को कोनी स्थानांतरित किया जाएगा। उन्होने जल्द से जल्द शिफ्टिंग की तैयारी करने को कहा। उन्होने बताया कि सिम्स के नये भवन के लिए लगभग 40 एकड़ भूमि आरक्षित है। स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक के पहले  सिम्स अस्पताल के विभिन्न वार्डों का निरीक्षण किया। मरीजों से मुलाकात कर व्यवस्था की जानकारी ली। बैठक और निरीक्षण के दौरानं बिलासपुर विधायक अमर अग्रवाल, बिल्हा विधायक धरमललाल कौशिक, तखतपुर विधायक धर्मजीत सिंह, बेलतरा विधायक सुशांत शुक्ला, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य रेणु जी पिल्लई, सिम्स के ओएसडी आर.प्रसन्ना विशेष रूप से उपस्थित थे।

स्वास्थ्य मंत्री जायसवाल ने बताया कि पिछले दो-तीन महीने में अस्पताल की व्यवस्था में सुधार हुआ है। लेकिन बेहतर करना होगा। इसके लिए सिम्स अस्पताल प्रबंधन और चिकित्सकों की बधाई है।

घण्टे भर लगी क्लास

         स्वास्थ्य मंत्री ने सिम्स मेडिकल कॉलेज के सभाकक्ष में लगभग घण्टे तक बैठक लेकर मरीजों के हित में कई निर्देश दिए। बैठक में सिम्स स्वास्थ्य प्रबंधन, जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग मंत्रालय से आये वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। उन्होंने कोनी में निर्माणाधीन मल्टी स्पेश्यालिटी अस्पताल के बचे काम को जल्द से जल्द पूर्ण करने को कहा। बताया कि मार्च महीने के प्रथम सप्ताह में लोकार्पण किया जायेगा। केन्सर अस्पताल के काम में भी गति लाकर समयसीमा में पूर्ण करना है।

एम्स जैसी मिलेगी सुविधा

जायसवाल ने कहा कि सिम्स बिलासपुर संभाग का सबसे बड़ा अस्पताल हैं। रायपुर एम्स जैसी स्वास्थ्य सुविधाएं यहां विकसित की जायेंगी। अस्पताल में जो भी कमियां हैं, उन्हें दूर की जायेगी। इस दौरान डीन डॉ.केके सहारे और अधीक्षक डॉ. नायक ने सिम्स में वर्तमान में उपलब्ध सुविधाएं, व्यवस्था एवं पिछले दो-तीन महीनों में आये सुधार का तुलनात्मक प्रस्तुतिकरण दिया। मंत्री ने सिम्स अस्पताल के तमाम टॉयलेट को अगले तीन महीने में सुधारने को कहा है। एक महीने के भीतर मरीजों के लिए वाटर प्यूरीफायर की व्यवस्था के निर्देश दिए। यह भी निर्देश दिया कि अस्पताल परिसर का वातावरण एवं प्रबंधन का बर्ताव इतना सद्भावना पूर्ण हो कि आते ही आधी बीमारी ऐसे ही दूर हो जाए। सिम्स की व्यवस्था में सुधार के लिए विधायक अमर अग्रवाल, धरमलाल कौशिक, सुशांत शुक्ला ने भी अहम सुझाव दिए।

सिम्स अस्पताल का किया निरीक्षण

स्वास्थ्य मंत्री ने लगभग आधे घण्टे तक अस्पताल के विभिन्न वार्डों का भ्रमण किया। मरीजों एवं उनके परिजनों से संवाद किया। मुलाकात की। बीमारी की जानकारी लेकर त्वरित इलाज करने के निर्देश चिकित्सकों को दिए। जायसवाल ने प्रमुख रूप से केजुअल्टी वार्ड, पंजीयन कक्ष, दवाई वितरण, ब्लड कलेक्शन सेन्टर, एक्सरे एवं सिटी स्कैन आदि वार्डों का निरीक्षण किया। मरीजों के पंजीयन में सुविधा के लिए जल्द टोकन सिस्टम व्यवस्था लागू करने के लिए कहा है।

इन अधिकारियों की उपस्थिति

कलेक्टर अवनीश शरण, संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. विष्णुदत्त, सीजीएमएससी की प्रबंध संचालक पद्मिनी भोई, डीन के.के.सहारे, अधीक्षक डॉ. एसके नायक, उप अधीक्षक डॉ. विवेक शर्मा सहित सिम्स के वरिष्ठ डॉक्टर एवं अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close