सीयू में राष्ट्रीय संगोष्ठीः प्रधानमंत्री मोदी अपने चमत्कारिक नेतृत्व कौशल से लोगों को हतप्रभ कर देते हैं- कुलपति प्रो. चक्रवाल


बिलासपुर। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय) के कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार चक्रवाल ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का व्यक्तित्व एवं नेतृत्व चमत्कारिक होने के साथ ही उनके फैसले लेने की क्षमता व कला लोगों को हतप्रभ कर देती है। यह बात उन्होंने बुधवार को सुबह 10 बजे रजत जयंती सभागार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर लिखित पुस्तक ‘‘मोदी@20 ड्रीम्स मीट्स डिलीवरी‘‘ पर आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के अवसर पर कही।
कार्यक्रम का प्रारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं मां सरस्वती तथा बाबा गुरु घासीदास की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करने से हुआ। इस अवसर पर तंरग बैंड ने सरस्वती वंदना तथा कुलगीत की मोहक प्रस्तुति दी। मंचस्थ अतिथियों का नन्हें पौधे से स्वागत उपरांत राष्ट्रीय संगोष्ठी के समन्वयक डॉ. अश्विनी कुमार दीक्षित, सह-प्राध्यापक वनस्पति विज्ञान विभाग ने स्वागत उद्बोधन दिया एवं सह-समन्वयक प्रो. सुशील कुमार शाही, सह-प्राध्यापक वनस्पति विज्ञान विभाग ने संगोष्ठी के विषय ‘‘मोदी@20 ड्रीम्स मीट्स डिलीवरी‘‘ का प्रवर्तन किया।
कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार चक्रवाल ने कहा कि गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में छत्तीसगढ़ की सेवा का अवसर पाने पर मुझे गर्व है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समय सीमा में कार्यों के निष्पादन और प्रबंध के सिद्धांतों को नये सिरे से परिभाषित किया है। उनके व्यक्तित्व में उद्देश्यपरखता, न्यायोचित व्यवहार के साथ सहयोग और समन्वय का गुण है। उन्होंने राष्ट्र निर्माण और वसुदैवकुटुंबकम के आदर्श भाव के साथ जनकल्याणकारी योजनाओं को प्रारंभ किया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 ने युवाओं को कौशल विकास एवं अनुभवजनित शिक्षा के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास प्रारंभ किया है। उन्होंने बताया कि समस्या के निदान के लिए समस्या को गहराई से जानना और फिर उसके समाधान के लिए विभिन्न विकल्पों के साथ आगे बढ़ाना चाहिए।
कुलपति प्रो. चक्रवाल ने कहा कि हमें विद्यार्थियों को सशक्त एवं साहसी उद्यमी बनाने के लिए स्वावलंबी छत्तीसगढ़ योजना को संपूर्ण स्वरूप में क्रियान्वित करना होगा। साथ ही युवाओं से आव्हान किया कि वे ज्यादा से ज्यादा स्वावलंबी छत्तीसगढ़ पोर्टल पर पंजायन करायें साथ ही कंपनियां एवं अन्य विद्यार्थी भी इस पोर्टल पर स्वयं को पंजीकृत करें। राष्ट्रीय संगोष्ठी के मुख्य अतिथि प्रो. अखिलेश कुमार पांडेय, कुलपति विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की राजनीति यात्रा लंबी और सफल होने के साथ विभिन्न प्रयोगों से जुड़ी हुई है। उन्होंने महात्मा गांधी की ग्रामीण विकास पर आधारित अर्थव्यवस्था की संकल्पना को फैलाया है। भारतीय परिपेक्ष्य में ग्रामीण विकास के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों द्वारा ज्यादा से ज्यादा काम करने की नीति को लागू किया जाना बेहतर माना गया है। प्रो. पांडे ने मोदी सरकार के दोनों कार्यकालों का जिक्र करते हुए विभिन्न योजनाओं के लिए किये गये प्रावधानों एवं क्रियान्वयन पर विस्तार से चर्चा की।
संगोष्ठी की विशिष्ट अतिथि प्रो. नीलांबरी आर. दवे पूर्व प्रभारी कुलपति एवं विभागाध्यक्ष गृह विज्ञान विभाग सौराष्ट्र विश्वविद्यालय राजकोट गुजरात ने कहा कि नरेन्द्र मोदी का गुजरात के मुख्यमंत्री एवं देश के प्रधानमंत्री बनने तक का सफर लोगों के लिए प्रेरणास्पद है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाएं बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ ने समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाया है। उन्होंने सभी के विकास की परिकल्पना को साकार करने के लिए निरंतर प्रयास किया है। भारतीय परंपरा योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्थापित किया है, आज पूरा विश्व योग को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मना रहा है।
राष्ट्रीय संगोष्ठी के उपलक्ष्य में विभिन्न प्रतियोगिताओं यथा स्लोगन, क्विज, पोस्टर, भाषण एवं रंगोली प्रतियोगिता के विजेताओं को मंचस्थ अतिथियों द्वारा प्रमाण-पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया। अतिथियों द्वारा रजत जयंती सभागार के प्रथम तल पर लगाई गई एक्जीबिशन का जायजा भी लिया गया। ‘‘मोदी@20 ड्रीम्स मीट्स डिलीवरी‘‘ पुस्तक को देश के इक्कीस गणमान्य हस्तियों द्वारा लिखा गया है। इसकी प्रस्तावना भारत रत्न स्वर कोकिला सुश्री लता मंगेशकर द्वारा लिखी गई है।
इस अवसर पर मंचस्थ अतिथियों का स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मान किया गया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव प्रो. शैलेन्द्र कुमार एवं संचालन डॉ. गरिमा तिवारी सहायक प्राध्यापक वानिकी विभाग ने किया। कार्यक्रम में विभिन्न विद्यापीठों के अधिष्ठातागण, विभागाध्यक्षगण, अधिकारीगण, शिक्षकगण एवं बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं शामिल हुए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *