मेरा बिलासपुर

Sanju Murder Updateः सातवें दिन तीन नए आरोपी गिरफ्तार..महंगी गाड़ी थार बरामद..आरोपियों की संख्या बढ़कर 14..फरार शूटरों को तलाश

बिलासपुर— पुलिस ने संजू त्रिपाठी हत्याकाण्ड खुलासा के तीन दिन बाद तीन नए आरोपियों को शामिल किया है। तीनो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार हत्याकाण्ड में तीनों की भूमिका संदिग्ध है।  गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से एक्टिवा, मोब्इल और थार बरामद कर लिया है। पकड़े गए तीनों आरोपियों का नाम केदार सिंह, रवि सिंह और रमेश राजपूत है।
 
                       संजू हत्याकाण्ड मामले में पुलिस ने खुलासा किए जाने के सात दिन बाद पकड़े गए 11 आरोपियों के  अलावा तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए तीनों आरोपियों से हत्याकाण्ड के बाद प्रयोग में लाए गयी एक्टीवा थार और मबोइल को बरामद किया है।
 
केदार सिंह की मर्डर में भूमिका
 
                 पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किया गया केदार सिंह सांई नगर उस्लापुर का रहने वनाला है। आरोपी कपिल त्रिपाठी का दोस्त है। उसका कपिल त्रिपाठी के घर आना है। आरोपी कपिल त्रिपाठी के जमीन व्यवसाय में पार्टनर भी है। 14 दिसम्बर को संजू की हत्या के बाद केदार सिंह ने भागने में सहयोग किया।  केदार सिंह ने  आरोपी कपिल त्रिपाठी को घर से एक्टीवा से रायपुर रोड लेकर गया। रवि सिंह को फोन कर वाहन लाने को कहा। इसके बाद केदार सिंह और रवि सिंह ने कपिल त्रिपाठी को भिलाई पहुंचाया। 
 
                पुलिस के अनुसार रास्ते में केदार सिंह और रवि सिंह  को पता चला कि कपिल ने ही संजू त्रिपाठी की हत्या करवाया है। बावजूद इसके केदार सिंह ने आरोपी कपिल को भगाने में मदद किया। रास्ते में मध्यप्रदेश की तरफ जाने वाले वाहन को रोककर कपिल त्रिपाठी को बैठाया भी।
 
 रवि सिंह की गाड़ी से भागा कपिल त्रिपाठी
 
                    पुलिस के अनुसार आनन्द नगर उस्लापुर निवासी रवि सिंह राजपूत को घटना के बाद केदार सिंह ने फोन कर बुलाया। रवि अपनी गाड़ी थार से कपिल त्रिपाठी और केदार सिंह को किया कार शो रूप से बैठाकर भिलाई छोड़ा। इस दौरान कपिल त्रिपाठी ने केदार सिंह के फोन से आरोपी जय नारायण तिवारी और सुमित निर्मलकर से संपर्क किया। रवि सिंह ने आरोपी कपिल को भगाने में मदद किया।
 
 चाचा रमेश राजपूत भी गिरफ्तार
 
            पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 27 खोली निवासी रमेश राजपूत को मृतक संजू त्रिपाठी और कपिल त्रिपाठी चाचा बोलते है। आरोपी जय नारायण त्रिपाठी का मित्र भी है। कपिल त्रिपाठी ने रमेश राजपूत को फोन देकर कहा था कि संजू त्रिपाठी की गतिविधियों की जानकारी देगा। आरोपी रमेश राजपूत ने आरोपी कपिल त्रिपाठी को ग्राम सांवाताल से फोन पर बताया कि संजू त्रिपाठी अकेले आया है। योजना के  अनुसार बकरा पार्टी देने वाला है। इसके बाद रमेश ने कपिल को बताया कि संजू त्रिपाठी कच्चा मटन लेकर जल्दी जल्दी अपने फार्म हाउस से निकला है। रमेश ने अन्य आरोपियों को भी वस्तुस्थिति के बारे में बताया। सूचना के बाद शूटरों ने संजू को तुर्काडीह फ्लाईओव्हर ब्रीज के नीचे अंधाधुंध फायरिंग कर मौत के घाट उतारा। 
 
पुलिस रिमाण्ड में सात आरोपी
 
                                 पुलिस के अनुसार जांच पड़ताल में पाया गया कि संजू हत्याकाण्ड में तीनो आरोपी षडयंत्र में शामिल हैं। तीनों आरोपियों को गिरफतार कर विधिवत कार्रवाई की गयी है। पुलिस ने अभी तक सात आरोपियों को रिमाण्ड में लेकर पूछताछ कर रही है। साथ ही फरार सभी 5 शुटर्स की तलाश की जा रही है। 

पत्रकारों ने किया जंग का एलान
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS