फेरी वाले ने किया मिस्ड काल..घर से भागी नाबालिग जांजगीर में पकड़ायी.. पुलिस की सजगता से लड़की बरामद..

बिलासपुर—- समय रहते तोरवा पुलिस ने नाबालिग को कुछ घंटों के अन्दर ही बरामद कर लिया। नाबालिग लड़की माता पिता को जानकारी दिए बिना घर से गायब हो गयी थी। तोरवा थाना प्रभारी ने बताया कि लड़की को मिस्ड काल के सहारे बरामद किया गया। मिस्ड काल किसी फेरी वाले का था। इसके बाद लड़की शाम को अपने माता पिता के घर लौटने से पहले ही भाग गयी थी।
 
                तोरवा पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार लालखदान महमंद में मुंगेली का एक मजदूर परिवार किराए में रहता है। देर शाम जब माता पिता घर लौटे तो उनकी 17 साल की नाबालिग लड़की गायब थी। काफी खोजबीन के बाद पतासाजी नहीं होने पर नाबालिग लड़की के माता पिता ने तोरवा थाना में अपराध दर्ज कराया
 
          परिवेश तिवारी ने बताया कि नाबालिग लडकी के माता पिता शहर के ह़ाटल  मेँ काम करते हैं। घर लौटने पर उन्हें जानकारी मिली कि 17 साल की नाबालिग लड़की गायब है। गायब होने के पहले नाबालिग लड़की ने अपने छोटे भाई को खाना खिलाया है। मामले की जानकारी उनके माता पिता रात्रि करीब 12:15 बजे दी। अपराध दर्ज करने के साथ मामले की छानबीन शुरू हुई।
 
                     परिवेश ने बताया कि छानबीन के दौरान आवेदिका से नाबालिग बालिका के बारे में जानकारी ली गयी। इसी दौरान जानकारी मिली कि नाबालिग की मोबाइल पर किसी ने मिस्ड काल किया था। काल किसी लड़के का है। लड़की की मोबाइल पर किए गए मिस्ड काल पर पुलिस ने काल किया। नंबर रायपुर, दुर्ग  में किसी फेरी वाले दुकानदार का पाया गया। फेरीवाले से पुलिस ने लगातार लड़की के बारे में जानकारी मांगी। लेकिन उसने जानकारी नहीं होने की बात कही।  
 
              इसी बीच जानकारी मिली कि जिला जांजगीर के अकलतरा, किरारी मेँ  नाबालिग बालिका को देखा गया है। जानकारी मिलते ही पुलिस ने किरारी मेँ  रेड कर लड़की को अपने कब्जे में लिया। लड़की को दूर के रिश्तेदार के यहां से बरामद किया गया। इसके बाद उसे समझा बुझाकर परिजनों के हवाले किया गया।
 
            परिवेश तिवारी ने बताया कि समय रहते कार्रवाई के चलते लड़की को सुरक्षित बचा लिया गया। यदि नाबालिग बालिका रायपुर या दुर्ग पहुंच जाति तो उसे खोजना मुश्किल था। क्योंकि फेरी वालों का कोई स्थायी ठिकाना नहीं होता है। फेरी  लगाने के लिए यहां वहां घूमते रहते हैं। थाना प्रभारी ने बताया कि नाबालिग लडकी को बरामद करने में सहायक उपनिरीक्षक भरत राठौर, दादुरैया ठाकुर,राकेश तांडे, पेट्रोलिंग आरक्षक नरेन्द ध्रुव का अहम योगदान रहा। पूरी घटना 3 जनवरी की दरमियानी रात्रि की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *