जमीन दलालों से परेशान..शिक्षाकर्मी ने लगाई फांसी

BHASKAR MISHRA
3 Min Read

sarkanda thanaबिलासपुर— सरकंडा थाना क्षेत्र राजकिशोर नगर के चंदन आवास में शिक्षाकर्मी ने फांसी पर झूलकर आत्महत्या कर ली है। मृतक का नाम कृष्ण कुमार यादव है। मृतक कोरबा का रहने वाला और मस्तूरी के एक गांव में शिक्षाकर्मी था।पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद दिया है। सुसाइड नोट के अनुसार मृतक ने जमीन दलाल से परेशान होकर आत्महत्या की है। सरकंडा पुलिस ने जमीन दलालों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

                  सरकंडा पुलिस के अनुसार राजकिशोर नगर के चंदन निवास में मस्तूरी के एक शिक्षाकर्मी ने फासी पर झूलकर आत्महत्या की है। पुलिस ने बताया कि मृतक की कोरबा में 16 डिसीमिल जमीन है। जिसे बेचना चाहता था। 13 डिसिमिल जमीन पिता घासीराम और 3 डिसीमिल जमीन चाचा अनंतराम के नाम पर है। 6-7 महीने पहले मृतक का परिचय जमीन दलाल अजीत लुथरा और सलीम खान से हुई। दोनों के कहने पर मृतक ने पिता और चाचा से सलीम और अमित के नाम मुख्तयारनामा करवाया। दोनों ने शर्त रखा कि 6 महीने के अन्दर जमीन बेचकर रकम दिया जाएगा।

                   सलीम और अमित तुथरा ने कोरबा की कुल 16 डिसीमिल जमीन को बेच दिया। लेकिन कृष्ण कुमार को नहीं बताया। जानकारी मिलने के बाद कृष्ण कुमार ने रूपयों की मांग की। दोनों ने बताया कि शर्तों के अनुसार जमीन की बुकिंग होने पर पांच लाख देने को कहा गया है। दोनों ने कृष्ण कुमार को दो लाख रूपए दिये। इसके बाद चाचा अनंतराम को डेढ़ लाख का चेक दिया। लेकिन एक लाख रूपए काम करवाने के बहाने वापिस भी ले लिया।

                 पुलिस के अनुसार सुसाइड नोट में लिखा है कि अमित और सलीम खान ने किसी दीपक सोनी पिता नंदा सोनी को 26 लाख में जमीन का सौदा किया। दोनों ने दीपक सोनी से जमीन सौदा में बतौर एडवांस 12 लाख रूपए लिये। बाकी पैसा रजिस्ट्री के बाद देना तय हुआ था। जब मृतक ने 12 लाख दोनों से मांगा तो उन्होने कहा कि बाउन्ड्रीवाल करवा दे तो पूरा पैसा दूंगा। मृतक बाउंड्रीवाल करवाने गया तो एक नया मामला सामने आया।

                     मृतक को जानकारी मिली कि अमित लुथरा और सलीम खान ने जमीन को किसी दूसरी पार्टी को भी बेचा है। दोनों पार्टियों ने कहा कि जमीन उसकी है। पूरा पैसा तब ही देंगे जब रजिस्ट्री होगी। इसके बाद दोनों दलालों से मिलकर उसने माजरा को समझा…। दोनों ने कहा कि सब ठीक हो जाएगा। लेकिन रकम रजिस्ट्री के बाद ही दिया जाएगा। उन्होने 12 लाख रूपए देने से भी इंकार कर दिया।

               इस तरह दलालों से परेशान होकर कृष्ण कुमार ने आत्महत्या की  है। सुसाइड नोट के आधार पर अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। दलालों की तलाश की जाएगी।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close