KOYLA Archive

बिलासपुर के नए पुलिस कप्तान ने लिया चार्ज ….कहा – बेसिक पुलिसिंग के साथ अपराधों पर अंकुश होगी प्राथमिकता

बिलासपुर— बिलासपुर के नए पुलिस कप्तान प्रशांत कुमार अग्रवाल ने पुराने एसपी अभिषेक मीणा से चार्जभार लिया। चार्ज लेने से पहले पुलिस जवानों ने नए पुलिस कप्तान को सलामी दी। इसके बाद कार्यलाय में चार्जभार लेने के बाद प्रशांत कुमार अग्रवाल ने अभिषेक मीणा से काफी देर तक बिलासपुर की स्थिति और परिस्थितियों को लेकर

सचिव कोयला मंत्रालय ने किया ओसीएम का मुआयना..जताया संतोष…किया पौधरोपण

बिलासपुर–सचिव कोयला मंत्रालय सुमंत चौधरी ने दो दिवसीय प्रवास के दौरान दूसरे दिन कुसमुण्डा ओसीएम का निरीक्षण किया। इस दौरान संयुक्त सचिव कोयला मंत्रालय भारत सरकार आशीष कुमार भी मौजूद थे।  कोलइण्डिया चेयरमेन ए. के. झा, अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक एसईसीएल ए.पी. पण्डा, निदेशक (कार्मिक) डाॅ. आर.एस. झा, निदेशक तकनीकी (संचालन)  कुलदीप प्रसाद,निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना)

ड्रायवर की हत्या में कोयला चोरो का हाथ..क्या पुलिस की भूमिका संदिग्ध ??पूछताछ के बाद होगी संचालक पर कार्रवाई

बिलासपुर-मुंगेलीः नांदघाट टेमरी के पास लावारिश ट्रेलर और ड्रायवर की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया  है। हत्या और कोयला चोरी मामले में सरगांव स्थित कोल डीपो संचालक और कर्मचारियों का हाथ है। हत्या के चार में से तीन आरोपी मुंगेली पुलिस की पकड़ में है। चौथा आरोपी आज भी फरार है। मुंगेली

बढ़ गया कोयला माफिया का मन…गुर्गों से सहायक प्रबंधक को पिटवाया…पुलिस का दावा…किसी को नहीं छोड़ा जाएगा

  बिलासपुर—-तीन चार दिन पहले कोयला दलाल के इशारे पर भाड़े के गुण्डों ने इस्पात कम्पनी प्रबधक को जमकर पीटा। पुलिस कप्तान के निर्देश पर प्रबंधक से मारपीट करने वाले सातों आरोपियों को पकड़ लिया गया है। बताया जा रहा है कि मास्टर माइंड अब भी फरार है। पुलिस का दावा है कि घटनाक्रम के

इंदौर वाले ने उड़ायी कोलवाशरी संचालकों की नींद..दूसरे के लायसेंस पर 4 कोल प्लाट..चोरी के कारोबार में हुआ इजाफा

बिलासपुर–लम्बे समय से बिलासपुर और मुंंगेली के लोग कोल माफियों से परेशान हैं। कमोबेश आज भी है..लेकिन कोलमाफियों मेंं पुलिस डर खत्म हो चुका है। यही कारण है कि कोल मापियों का डिपो यानि कोयला चोरी के अड्डों की संख्या दिनों दिन बढती जा रही है। जब तब पुलिस और माइनिंग विभाग की छापामार कार्रवाई

पुलिस डाल-डाल…कोयला माफिया पात-पात….दो जिलों में एक साथ चल रहा अवैध कारोबार…कैसे निबटे प्रशासन

बिलासपुर— कुछ तो बात है कोयला व्यापार में…कोयला माफियों में भी…बिलकुल बेशरम की जड़ की तरह…। पुलिस और खनिज विभाग ताबड़तोड़ कार्रवाई तो करती है..लेकिन सप्ताह दो सप्ताह बाद पुराने का साथ बोनस में नया कोयला माफिया पैदा हो जाता है। आजकल बिलासपुर कोयला माफियों ने नया पैतरा लिया है। बिलासपुर पुलिस कप्तान की सख्ती

होश में आएं जनप्रतिनिधि…कोयला मजदूर नेता ने कहा…उग्र आंदोलन के साथ करेंगे निजीकरण का विरोध

बिलासपुर— कोयला उद्योग और कोयला कामगारों का भविष्य खतरे में है। जनप्रतिनिधि भी चुप हैं। माइनिंग के निजीकरण का खतरा सिर पर मंडरा रहा है। या फिर कहें कि माइनिंग उद्योग का 90 प्रतिशत निजीकरण हो चुका है तो कोई आश्चर्य नहीं होगा। मात्र 10 प्रतिशत उद्योग ही सरकार के हाथों में है…वह भी लोगों

मोहदा कोल डीपो में अफरा तफरी का खेल..नाक के नीचे शर्तो की खुलेआम उड़ रही धज्जियां…क्या पुलिस कार्रवाई होगी…?

बिलासपुर— लोगों को अभी तक नहीं समझ में नहीं आया है कि आखिर पुलिस प्रशासन ने कोल डिपो पर छापा क्यों मारा। क्योंकि सब कुछ तो पहले की ही तरह है। कोल डीपो को जब खोलना था…तो बंद क्यों किया। और जब बंद करना है तो खोला  क्यों गया। छापामार कार्रवाई जिन कारणों को लेकर

गुड़गुड़,कोयला और मोक्ष कैफे में छापा…हुक्का समेत नशे की वस्तुए बरामद….पुलिस चपेट में आए कई लोग

बिलासपुर— बिलासपुर पुलिस ने नशे से जुड़े अवैध कारोबार और नशेड़ियों के खिलाफ देर शाम अभियान चलाकर शहर में खलबली मचा दी है। तीन जगह एक साथ छापामार कार्रवाई कर कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। तो कई लोग फरार होने में कामयाब हुए है। बताया जा रहा है कि नशे के अवैध