संचालकों ने किया जलसमाधि का एलान..फिर पेश किया 3 सूत्रीय मांग.कहा..13 से नहीं दौड़ेंगी बसें

बिलासपुर— छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ जिला ईकाई ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर तीन सूत्रीय मांग पत्र दिया। साथ ही मांग पूरी नहीं होने पर अनिश्चित कालीन हड़ताल का एलान भी किया है। बस संचालकों ने शासन को अल्टीमेटम दिया है कि यदि मांग 13 जुलाई तक पूरी नहीं होती है तो..सभी मालिक 14 जुलाई को खारून नदी स्थित महादेव घाट में जल समाधि लेंगे।

              छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ की जिला ईकाई ने जिला कार्यालय पहुंचकर एक बार फिर तीन सूत्रीय मांग पेश किया है। बस मालिकों ने बताया कि डीजल, पेट्रोल में बेतहासा बृद्धि हो रही है। इसका असर सीधे सीधे बस मालिकों पर पड़ रहा है। बावजूद इसके किराए में बृद्धि को लेकर शासन प्रशासन मौन है।

                                    महासंघ के पदाधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में बस का संचालन करना नामुमकिन हो गया है। बसों के प्रतिदिन का खर्च सकल आय से अधिक है। पिछले 16 महीने से बस संचालन की स्थिति नहीं के बराबर है। जिसके चलते बस संचालक पूरी तरह से तबाह हो चुका है।

            संचालकों ने बताया कि 26 मई 2021 को तीन सूत्रीय मांग पत्र पेश किया गया। बावजूद इसके किराया वृद्धि को लेकर अधिसूचना जारी नहीं किया गया। जबकि छत्तीसगढ़ सीमा से जुड़े सभी राज्यों मध्यप्रदेश, उड़ीसा, झारखण्ड, महाराष्ट्रऔर उत्तर प्रदेश में यात्री किराया बढ़ा दिया गया है। लेकिन छत्तीसगढ़ शासन ने अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है।

शासन को सीधी चुनौती

            बस संचालकों ने बताया कि किराया वृद्धि की मांग को लेकर सभी लोग 12 जुलाई को बूढ़ा तालाब रायपुर में प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन करेंगे। इस दौरान बस संचालक समेत सभी का परिवार, चालक, परिचालक हेल्पर, क्लीनर के साथ उनका भी परिवार एक दिवसीय धरना में शामिल होगा।

                    13 जुलाई को पूरे प्रदेश की बसों के पहिए अनिश्चितकालीन के बन्द हो जाएंगे। मांग पूरी नहीं होने की सूरत में 14 जुलाई को धरना में शामिल सभी लोग रायपुर स्थित खारून नदी में जलसमाधि लेंगे। 

           बस संचालकों ने बताया कि बस कारोबार से करीब 1 लाख 8 हजार से अधिक लोग जुूड़े हैं। सबके सामने भूखे मरने की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। इसके  लिए सिर्फ और सिर्फ शासन ही जिम्मेदार होगा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *