मेरा बिलासपुर

एसडीएम आदेश पर…पटवारी सस्पेंड…जिला पंचायत सीईओ का आदेश..दो संविदा कर्मचारियों पर गिरी गाज

रामानुजगंज(पृथ्वीलाल केशरी)—उच्च अधिकारियों के निर्देश और आदेश उल्लंघन मामले में जिला पंचायत सीईओ रीता यादव ने दो संविदा कर्मचारियों सेवा से बर्खास्त किया है। ऐसे ही एक मा्मले में शासन के दिशा निर्देशों का पालन नहीं किए जाने पर एसडीएम ने पटवारी को निलंबन किया है।एसडीएम आदेश में बताया गया है कि निलंबित पटवारी को निलंबन के दौरान जीवन निर्वाह भत्ता दिया जाएगा।
 
                        महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनांतर्गत जनपद पंचायत राजपुर में पदस्थ दो संविदा कर्मचारियों को जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने सेवा बर्खास्त कर दिया है। जिला पंचायत सीईओ रीता यादव ने आदेश जारी कर  तकनीकी सहायक बृजेश तिवारी और निकिता जायसवाल को सेवा से मुक्त किया है। 
 
                                     आदेश में बताया गया है कि दोनो कर्मचारियों को कर्तव्य निर्वहन नहीं किये जाने का दोषी पाया गया है। दोनो संविदा कर्मचारी बिना किसी  पूर्व सूचना के लगातार अनुपस्थित रहते हैं। दोनो पर कार्यालय के उच्च अधिकारियों के आदेश और निर्देशों का पालन नहीं किये की शिकायत है। तमाम बातों को ध्यान में रखते हुए दोनों कर्मचारियों की संविदा नियुक्ति को निरस्त कर दिया गया है। 
 
एसडीएम ने पटवारी को किया निलंबित
 
           एसडीएम गौतम सिंह ने तहसील रामचन्द्रपुर के पटवारी हल्का क्रमांक 8 और 9 के पटवारी को निलंबित किया है। पटवारी अनिल भगत पर आरोप है कि बिना किसी सूचना के लगातार अनुपस्थित रहते है। लोगों की शिकायतों पर जांच पड़ताल के दौरान पाया गया कि अनिल भगत  गिरदावरी कार्य समेत न्यायालयीन प्रकरणों में भारी लापवाही को अंजाम दिया है। शासन के निर्देशानुसार अनिल भगत को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर रामानुजगंज तहसील कार्यालय में संलग्न किया जाता है। इस दौरान

Election-ओमिक्रोन की एंट्री, गाजियाबाद में दो संक्रमित मिलने के बाद आंकड़ा 113 पहुंचा
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS